पीएम मोदी के 'मास्टस्ट्रोक' के कारण 45 करोड़ से अधिक लोगों ने नौकरी पाने की उम्मीद खोई : राहुल गांधी

राहुल ने एक समाचार रिपोर्ट का भी हवाला दिया, जिसमें दावा किया गया था कि पिछले पांच वर्षों में 2.1 करोड़ नौकरियां चली गईं और 45 करोड़ लोग नौकरी की उम्मीद छोड़ चुके हैं.

पीएम मोदी के 'मास्टस्ट्रोक' के कारण 45 करोड़ से अधिक लोगों ने नौकरी पाने की उम्मीद खोई : राहुल गांधी

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को बेरोजगारी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उनके "मास्टरस्ट्रोक" के कारण 45 करोड़ से अधिक लोगों ने नौकरी पाने की उम्मीद खो दी है. उन्होंने दावा किया कि पीएम मोदी ऐसा करने वाले 75 साल में "ऐसे पहले प्रधानमंत्री" हैं. राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि  न्यू इंडिया का न्यू नारा,  हर-घर बेरोज़गारी,  घर-घर बेरोज़गारी. 75 सालों में मोदी जी देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिनके ‘Masterstrokes' से 45 करोड़ से ज़्यादा लोग नौकरी पाने की उम्मीद ही छोड़ चुके हैं.

उन्होंने एक समाचार रिपोर्ट का भी हवाला दिया, जिसमें दावा किया गया था कि पिछले पांच वर्षों में 2.1 करोड़ नौकरियां चली गईं और 45 करोड़ लोग नौकरी की उम्मीद छोड़ चुके हैं.

बता दें कि कुछ दिन पहले राहुल ने दिल्ली और मध्य प्रदेश के हिंसा प्रभावित इलाकों में अतिक्रमण रोधी अभियान के तहत बुलडोजर चलाए जाने को लेकर बुधवार को सरकार पर निशाना साधा. सरकार को घेरते हुए राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि देश के संवैधानिक मूल्यों को ध्वस्त किया गया है. उन्होंने ये भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी को अपने दिल में बैठी नफरत को ध्वस्त करना चाहिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राहुल गांधी ने संविधान की प्रस्तावना वाला पृष्ठ और एक बुलडोजर की तस्वीर साझा करते हुए ट्वीट किया कि ये भारत के संवैधानिक मूल्यों को ध्वस्त किया गया है. गरीबों और अल्पसंख्यकों को सरकार प्रायोजित निशाना बनाया गया है. बीजेपी को इन सबकी बजाय अपने दिल में बैठी नफरत को ध्वस्त करना चाहिए.