जिलाधिकारी कार्यालय में घोड़े से आना चाहता है अफसर, DM को बताई ये वजह

नांदेड़ में महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) के एक अधिकारी ने बुधवार को जिलाधिकारी से कार्यालय परिसर में घोड़ा बांधने की अनुमति देने का अनुरोध किया है.

जिलाधिकारी कार्यालय में घोड़े से आना चाहता है अफसर, DM को बताई ये वजह

सतीश देशमुख घोड़े से दफ्तर आना चाहते हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • महाराष्ट्र के नांदेड़ का मामला
  • अफसर ने DM से मांगी इजाजत
  • रीढ़ की हड्डी में परेशानी को बताया वजह
नांदेड़:

नांदेड़ में महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Govt) के एक अधिकारी ने बुधवार को जिलाधिकारी से कार्यालय परिसर में घोड़ा बांधने की अनुमति देने का अनुरोध किया और कहा कि रीढ़ की हड्डी में परेशानी के चलते वह दो पहिया वाहन का उपयोग नहीं कर सकते, इसलिए रोजाना घोड़े की सवारी कर कार्यालय आना चाहते हैं. नांदेड़ जिलाधिकारी कार्यालय में रोजगार गारंटी योजना विभाग में सहायक ऑडिटर के पद पर तैनात सतीश देशमुख ने यह असामान्य निवेदन किया है.

देशमुख के आवेदन के बाद नांदेड़ स्थानीय उप जिलाधिकारी प्रदीप कुलकर्णी ने चिकित्सक की राय मांगी. इस पर, नांदेड़ के डॉक्टर शंकरराव चव्हाण सरकारी मेडिकल कॉलेज के डीन ने लिखित जवाब में कहा कि अगर ऐसी हालत में व्यक्ति घोड़े की सवारी करता है तो दिक्कत और ज्यादा बढ़ सकती है.

महाराष्ट्र के वन मंत्री ने दिया इस्तीफा, BJP ने लगाया था सुसाइड केस में शामिल होने का आरोप


नांदेड़ के जिलाधिकारी विपिन इतनकार को भेजे जवाब में डॉक्टर ने कहा कि घोड़े की सवारी करने के दौरान व्यक्ति को झटका लग सकता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: घोड़े 'शक्तिमान' की प्रतिमा लगा कर हटाई गई



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)