NSG में कोरोनावायरस से पहली मौत, वेंटिलेटर मिलने में देरी का आरोप

देश के संघीय आतंकवाद निरोधक कमांडो बल नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) के एक वरिष्ठ कमांडर की कोरोनावायरस (Coronavirus) से मौत हो गई.

NSG में कोरोनावायरस से पहली मौत, वेंटिलेटर मिलने में देरी का आरोप

NSG में कोरोना से यह पहली मौत है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • NSG के वरिष्ठ कमांडर की कोरोना से मौत
  • ग्रेटर नोएडा के अस्पताल में ली अंतिम सांस
  • वेंटिलेटर मिलने में देरी का लगाया आरोप
ग्रेटर नोएडा:

देश के संघीय आतंकवाद निरोधक कमांडो बल नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) के एक वरिष्ठ कमांडर की कोरोनावायरस (Coronavirus) से मौत हो गई. एनएसजी में यह इस संक्रमण से पहली मौत है, जिसे लेकर अधिकारियों ने वरिष्ठ कमांडर को विशिष्ट उपचार उपलब्ध कराने में देरी का आरोप लगाया है. अधिकारियों ने बताया कि ग्रुप कमांडर (समन्वय) बी के झा के COVID-19 से संक्रमित होने के बाद उन्हें ग्रेटर नोएडा के सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्सेज (सीएपीएफ) अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने मंगलवार सुबह अंतिम सांस ली. वह 53 साल के थे.

अधिकारियों के अनुसार, पिछली रात उनकी स्थिति बहुत तेजी से बिगड़ी और चूंकि सीएफपीएफ अस्पताल में वेंटिलेटर आईसीयू काम नहीं कर रहा था तो उन्हें बाईपेप प्रणाली पर रखा गया. उन्होंने बताया कि डॉक्टरों ने सुझाव दिया कि उन्हें आईसीयू बेड की जरूरत है और फिर किसी अन्य अस्पताल में आईसीयू बेड की तलाश शुरू की गई.

शराब नहीं बचाती कोरोनावायरस से, अफवाहों पर न दें ध्‍यान : पंजाब के कोविड विशेषज्ञ की लोगों को सलाह


एक एनएसजी अधिकारी ने कहा, ‘‘काफी देर तक तलाश के बाद नोएडा के एक निजी अस्पताल में एक वेंटिलेटर बेड मिला लेकिन उन्हें ले जाने के लिए कार्डियक एंबुलेंस का इंतजाम करने में फिर देरी हो गई. एनएसजी से कार्डियक एंबुलेंस पहुंची लेकिन इसी बीच उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह चल बसे.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: दिल्ली के बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन न मिलने से डॉक्टर समेत आठ मरीजों की मौत



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)