ग्रेटा थनबर्ग से जुड़े कमेंट पर अधीर रंजन के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस

पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग को अधीर रंजन के ‘पर्सोना-नॉन ग्रेटा’ कहा, जिसका मतलब यह है कि किसी देश में कोई व्यक्ति अस्वीकार्य है

ग्रेटा थनबर्ग से जुड़े कमेंट पर अधीर रंजन के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस

कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

भाजपा सांसद पीपी चौधरी ने लोकसभा (Lok Sabha) में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) की एक टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया है. पीपी चौधरी ने मंगलवार रात लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहा कि उन्होंने पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) को ‘पर्सोना-नॉन ग्रेटा' बताने से जुड़ी टिप्पणी को लेकर यह नोटिस दिया है.

उन्होंने कहा कि अधीर रंजन चौधरी ने स्वीडिश नागरिक ग्रेटा के लिए ‘पर्सोना नॉन ग्रेटा' शब्द का इस्तेमाल किया. यह कूटनीतिक शब्द है जिसका मतलब यह है कि किसी देश में कोई व्यक्ति अस्वीकार्य है.


चौधरी ने कहा, ‘‘स्वीडन के साथ हमारा अच्छा रिश्ता है. यह बयान संबंधों को खराब करने वाला है. यह गुमराह करने वाला है. मेरा आग्रह है कि उचित कार्रवाई की जाए.'' इस पर पीठासीन सभापति एनके प्रेमचंद्रन ने कहा कि यह नोटिस लोकसभा अध्यक्ष के विचाराधीन है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उल्लेखनीय है कि कांग्रेस नेता चौधरी ने स्वीडिश पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग के किसान आंदोलन का समर्थन करने और इसको लेकर विदेश मंत्रालय की प्रतिक्रिया का हवाला दिया था और कहा कि जिस तरह से पूरी सरकार 18 साल की एक लड़की के खिलाफ खड़ी हो गई है, उससे देश की छवि धूमिल हो रही है. उन्होंने यह भी कहा कि ग्रेटा को यहां ‘पर्सोना नॉन ग्रेटा' बना दिया गया है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)