CBSE : कोविड-19 के कारण अभिभावकों को खोने वाले स्टूडेंट्स से परीक्षा शुल्क नहीं लेगा बोर्ड

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी ने देश पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है और छात्रों पर इसके प्रभाव को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए राहत देने का फैसला किया है.

CBSE : कोविड-19 के कारण अभिभावकों को खोने वाले स्टूडेंट्स से परीक्षा शुल्क नहीं लेगा बोर्ड

सीबीएसई कोविड-19 के कारण माता-पिता खोने वाले बच्चों से परीक्षा शुल्क नहीं लेगा

नई दिल्ली:

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) कोविड-19 महामारी के कारण अपने अभिभावकों को खोने वाले छात्रों से अगले साल कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बैठने के लिए कोई पंजीकरण या परीक्षा शुल्क नहीं लेगा. सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा, ‘‘कोविड-19 महामारी ने देश पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है और छात्रों पर इसके प्रभाव को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए राहत देने का फैसला किया है. बोर्ड द्वारा उन छात्रों से न तो परीक्षा शुल्क और न ही पंजीकरण शुल्क लिया जाएगा जिन्होंने माता-पिता दोनों या परिवार की देखभाल करने वाले अभिभावक अथवा कानूनी अभिभावक या दत्तक माता-पिता को कोविड-19 के कारण खो दिया है.''भारद्वाज ने कहा, ‘‘स्कूल कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए उम्मीदवारों की सूची प्रस्तुत करते समय इन छात्रों के बारे में सत्यापन करने के बाद ब्योरा जमा करेंगे.''

बता दें कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 16 दिसंबर से 13 जनवरी के बीच केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) आयोजित करेगा। बोर्ड की ओर से जारी एक वक्तव्य में यह जानकारी दी गई. बोर्ड ने कहा कि यह परीक्षा पूरे देश में 20 भाषाओं में कंप्यूटर आधारित परीक्षा के रूप में आयोजित की जाएगी. इसमें बताया गया कि परीक्षा की जानकारी, पाठ्यक्रम, भाषा, योग्यता, फीस आदि के बारे में विस्तार से जानकारी सीटीईटी की वेबसाइट पर 20 सितंबर से उपलब्ध होगी। उम्मीदवारों को सीटीईटी की वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन आवेदन देना होगा और यह प्रक्रिया 20 सितंबर से 19 अक्टूबर तक चलेगी.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com