अंकल जी... TMC सांसद महुआ मोइत्रा और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच फिर शुरू हुआ वार-पलटवार का दौर

तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच वार पलटवार दौर वहीं से  फिर से शुरू हुआ जहां यह रविवार रात को रुका था.

अंकल जी... TMC सांसद महुआ मोइत्रा और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच फिर शुरू हुआ वार-पलटवार का दौर

जगदीप धनखड़ के खिलाफ आक्रामक हुए TMC सांसद के तेवर (फाइल फोटो)

कोलकाता:

तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच वार पलटवार दौर वहीं से  फिर से शुरू हुआ जहां यह रविवार रात को रुका था. महुआ मोइत्रा ने आज एक बार फिर राज्यपाल की जॉब डिस्क्रिप्शन और उनके परिवार के 6 सदस्यों को OSD नियुक्त किए जाने को लेकर निशाना साधा. संवैधानिक जिम्मेदारियों का हवाला देते हुए अक्सर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बरसने वाले राज्यपाल को सांसद मोइत्रा बरसीं ने संवैधानिक नियमों की याद दिलाई है. लोकसभा सांसद मोइत्रा ने सुप्रीम कोर्ट के वकील का ओपन लेटर अपने ट्विटर पर शेयर किया है, जिसमें राज्यपाल से निर्वाचित सरकार पर हमला करने से परहेज करने का आग्रह किया गया है. 

उन्होंने लिखा कि अंकल जी... इसे पढ़ने की कोशिश करें, क्या पता आपको अपना जॉब डिस्क्रिप्शन याद आ जाए. हालांकि उन्होंने कुछ ही देर में अपना ट्वीट हटा लिया. इससे कुछ देर पहले टीएमसी सांसद ने OSD का नियुक्ति के मसले पर जवाब दिया था. उन्होंने पूछा था कि अंकल जी, आपने पूर्वकाल में ऐसे कौन से काम किए थे जिनके आधार पर आप राजभवन तक पहुंचे, इसे अभी बताएं. क्योंकि बीजेपी आईटी आपको इससे बचा नहीं सकते हैं. उन्होंने कहा कि देश के उपराष्ट्रपति बनना भी मुश्किल लग रहा है.

बताते चलें कि टीएमसी सांसद महुआ मित्रा ने रविवार को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को ''अंकल जी'' कहते हुए दावा किया कि उनके परिवार के सदस्यों और अन्य परिचितों को राजभवन में विशेष कार्याधिकारी (OSD) नियुक्त किया गया है. मोइत्रा ने एक लिस्ट ट्विटर पर साझा की, जिसमें राज्यपाल के OSD अभ्युदय शेखावत, OSD-समन्वय अखिल चौधरी, OSD-प्रशासन रुचि दुबे, OSD-प्रोटोकॉल प्रसांत दीक्षित, OSD-आईटी कौस्तव एस वलिकर और नव-नियुक्त OSD किशन धनखड़ का नाम है था. 

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद ने साथ ही कहा कि शेखावत धनखड़ के बहनोई के बेटे, रुचि दुबे उनके पूर्व एडीसी मेजर गोरांग दीक्षित की पत्नी तथा प्रसंत दीक्षित भाई हैं. मोइत्रा ने कहा कि वलिकर, धनखड़ के मौजूदा एडीसी जनार्दन राव के बहनोई हैं जबकि किशन धनखड़ राज्यपाल के एक और करीबी रिश्तेदार हैं. 


मोइत्रा ने पश्चिम बंगाल की कानून-व्यवस्था को लेकर चिंता जताने से संबंधित धनखड़ के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, ''अंकलजी पश्चिम बंगाल की ''चिंताजनक स्थिति'' सुधर जाएगी अगर आप क्षमा-याचना करके वापस दिल्ली चले जाएं और कोई अन्य नौकरी तलाश लें. कुछ सुझाव हैं: 1. विपक्ष को कितना बेहतर तरीके से ठोको, इसको लेकर मुख्यमंत्री अजय बिष्ट योगी के सलाहकार बन जाइए, 2. महामारी के दौरान कैसे बेहतर तरीके से छुपा जाए, इसके लिये गृह मंत्री के सलाहकार बन जाइए. और हां, जब आप वापस जाएं तो पश्चिम बंगाल के राजभवन में बसे अपने भरे-पूरे परिवार को साथ ले जाएं.''''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बताते चलें कि मोइत्रा के दावे पर राज्यपाल धनखड़ साफ कर चुके हैं, उनके OSD रिश्तेदार नहीं है. इस वार पलटवार के दौर के बीच में उन्होंने बताया कि उनके OSD तीन अलग अलग राज्यों और जातियों से ताल्लुक रखते हैं. उनमे से कोई भी मेरे परिवार का सदस्य नहीं है. इनमें से चार लोग तो न ही मेरी जाति के हैं और न ही मेरे प्रदेश के हैं. उन्होंने इसे राज्य में बढ़ रहे अपराधों के प्रति ध्यान हटकाने की कोशिश कहा है.