कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन हुआ बेकाबू, कई देशों ने ब्रिटेन से विमान सेवा पर लगाई रोक

Coronavirus New Strain : नीदरलैंड के सबक लेते हुए जर्मन सरकार भी ऐसा गंभीर कदम उठाते हुए ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका के लिए उड़ानों पर रोक लगाने पर विचार कर रही है.

कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन हुआ बेकाबू, कई देशों ने ब्रिटेन से विमान सेवा पर लगाई रोक

Coronavirus :बेल्जियम ने ब्रिटेन के लिए सभी उड़ानों और ट्रेनों पर रोक लगा दी है. (प्रतीकात्मक) 

पेरिस:

कोरोना वायरस ने नए खतरनाक रूप (Coronavirus Strain) ने कहर ढाना शुरू कर दिया है. खतरा भांपते हुए जर्मन सरकार ब्रिटेन (Britain) और दक्षिण अफ्रीका (South Africa) की उड़ानों पर रोक लगाने पर विचार कर रही है. जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री के सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी.कोरोना वायरस के नए खतरे को देखते हुए बेल्जियम (Belgium) और नीदरलैंड (Netherland) पहले ही ब्रिटेन से विमान और ट्रेन सेवा रोक चुके हैं.

यह भी पढ़ें- ब्रिटेन ने अधिक तेजी से फैलने वाले नए कोरोनो वायरस की पुष्टि की, WHO को सूचित किया


ब्रिटेन ने खुद माना है कि कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन ने कहर बरपाना शुरू करदिया है. नीदरलैंड ने रविवार से ब्रिटेन के लिए सभी यात्री उड़ानों (Passenger Flights) पर रोक लगा दी है. बेल्जियम पहले यह निर्णय़ कर चुका है. सूत्रों का कहना है कि जर्मन (Germany) भी ऐसे ही कदम पर गंभीरता से विचार कर रही है.जर्मन सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटेन की गतिविधियों पर पैनी नजर है. वायरस के नए स्ट्रेन से जुड़ी सूचनाओं और डेटा को हम खंगाल रहे हैं. जर्मनी अन्य यूरोपीय देशों के संपर्क में भी है. हालांकि अभी तक जर्मनी में नया स्ट्रेन का कोई भी मरीज नहीं मिला है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन (UK PM Boris Johnson) ने लंदन और साउथईस्ट इंग्लैंड के तमाम इलाकों में 30 दिसंबर तक लॉकडाउन का ऐलान किया है. इन इलाकों में कोरोना का वह स्ट्रेन मिला है, जो मूल वायरस से 70 फीसदी ज्यादा संक्रामक पाया गया है. बेल्जियम के फैसले से विमान सेवा के साथ यूरोस्टार ट्रेन सेवाओं का संचालन भी प्रभावित होगा.यूरोपीय देशों ने यह कदम ऐसे वक्त उठाया है, जब क्रिसमस (Christmas)  और नए साल के जश्न (New Year Celebration) को लेकर लोग बाहर घूमने जाने की योजना बना रहे हैं. पिछले साल इसी वक्त कोरोना ने दुनिया में कहर ढाना शुरू किया था. यूरोपीय देश इटली, फ्रांस, ब्रिटेन में इसने बड़ी तबाही मचाई थी. इस बार सरकारें काफी सतर्क हैं.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)