नीरज चोपड़ा की मां ने कहा, ''उसने मेरा और देश की हर मां का नाम रोशन किया''

ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा की मां सरोज चोपड़ा ने NDTV से कहा कि रात भर नींद नहीं आई, व्रत भी रखा है, पूरे वक्त जब नीरज भाला फेंक रहा था तब राम-राम जप रही थी

नीरज चोपड़ा की मां ने कहा, ''उसने मेरा और देश की हर मां का नाम रोशन किया''

नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलिंपिक में भाला फेंक में गोल्ड मेडल जीता है.

नई दिल्ली:

नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) के टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) में भाला फेंक (Javelin Throw) में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने पर उनकी मां सरोज चोपड़ा (Saroj Chopra) ने NDTV से कहा कि ''मैं बहुत खुश हूं, नीरज ने मेरा और देश की हर मां का नाम रोशन किया है. रात भर नींद नहीं आई, व्रत भी रखा है. पूरे वक़्त जब नीरज भाला फ़ेंक रहा था तब राम-राम जप रही थी. उन्होंने कहा कि नीरज को खाने में चूरमा बहुत पसंद है. घर आते वक्त रास्ते में ही बोल देता था कि चूरमा बना लेना. जब नीरज घर लौटेंगे तो चूरमा तैयार रखूंगी उसके लिए.'' 

नीरज चोपड़ा के पिता सतीश चोपड़ा (Satish Chopra) ने एनडीटीवी से कहा कि ''मैं बहुत खुश हूं. नीरज ने आज मिल्खा सिंह का सपना पूरा कर दिया है. नीरज ने बहुत मेहनत की है. हमें उसके दोस्तों ने और कोच ने बताया था कि वे अच्छा थ्रो करते हैं. हमने उन्हें फिर आगे भेज दिया. जो कर सकते थे, हम लोगों ने किया. पूरे देश को नीरज पर गर्व है.''

सतीश चोपड़ा ने कहा कि ''नीरज से कल शाम को बात हुई थी. उसने कहा था कि वह अपना पूरा ज़ोर लगाएगा. मैं अपनी खुशी लफ्जों में बयां नहीं कर सकता. हम चार भाइयों ने उसे मिलकर तैयार किया है. हम सब किसान हैं और आज हमारे परिवार का त्याग रंग लाया.'' 

गौरतलब है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ओलिंपिक में पुरुषों की भाला फेंक में पदक जीतने पर नीरज चोपड़ा को 6 करोड़ रुपये के नकद इनाम की घोषणा की है. हरियाणा सरकार ने इसके अलावा प्रथम श्रेणी अधिकारी की सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की है. इसके अलावा हरियाणा में कहीं भी 50 फीसदी के कन्सेशन पर प्लाट देने का भी ऐलान किया है. यही नहीं, नीरज चोपड़ा को पंचकुला में बनने वाले एथलीट सेंटर का हेड भी बनाया जाएगा.  

23 वर्षीय नीरज ने स्वर्ण पदक जीतने के लिए चेक गणराज्य की जोड़ी जैकब वाडलेज और विटेज़स्लाव वेस्ली से आगे निकलने के लिए 87.58 का सर्वश्रेष्ठ प्रयास दर्ज किया. यह टोक्यो ओलिंपिक में भारत का पहला स्वर्ण पदक है. बीजिंग में 2008 में अभिनव बिंद्रा की वीरता के बाद ओलिंपिक इतिहास में देश का दूसरा व्यक्तिगत स्वर्ण पदक भी है.

नीरज चोपड़ा को उनकी जीत के लिए बधाई देते हुए, सीएम मनोहरलाल खट्टर ने कहा कि देश इस पल का लंबे समय से इंतजार कर रहा था और पूरे देश को उन पर गर्व है. इससे पहले मनोहरलाल खट्टर ने भाला फेंक का फाइनल देखते हुए अपनी एक तस्वीर ट्वीट की थी.


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बधाई देते हुए ट्वीट किया- नीरज चोपड़ा की अभूतपूर्व जीत! आपके भाले ने बाधाओं को तोड़ते हुए सोना जीतकर इतिहास रचा है. आपने अपने पहले ओलिंपिक में भारत को पहली बार ट्रैक और फील्ड में पदक दिलाया है. आपका करतब हमारे युवाओं को प्रेरणा देगा. भारत उत्साहित है. हार्दिक बधाई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीरज चोपड़ा को बधाई दी है. पीएम मोदी ने ट्वीट किया है- टोक्यो में क्या इतिहास रचा गया है! नीरज चोपड़ा ने आज जो हासिल किया है उसे हमेशा याद किया जाएगा. युवा नीरज ने असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है. उन्होंने उल्लेखनीय जुनून के साथ खेला और अद्वितीय धैर्य दिखाया. गोल्ड जीतने के लिए उन्हें बधाई.