जज और उनके बेटे की मौत का सनसनीखेज खुलासा, महिला मित्र ने जहर देकर की हत्या

बैतूल के अतिरिक्त जिला न्यायाधीश महेंद्र त्रिपाठी और उनके बेटे अभिनव राज की हत्या के मामले में महिला संध्या सिंह समेत छह गिरफ्तार

जज और उनके बेटे की मौत का सनसनीखेज खुलासा, महिला मित्र ने जहर देकर की हत्या

एडीजे महेंद्र त्रिपाठी और उनके बेटे की हत्या की आरोपी संध्या सिंह पुलिस हिरासत में.

भोपाल:

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल में जिला न्यायालय में पदस्थ अतिरिक्त जिला न्यायाधीश (ADJ) महेंद्र त्रिपाठी और उनके बेटे अभिनव राज की मौत के बाद बैतूल पुलिस ने महज पांच दिनों के भीतर इस घटना का सनसनीखेज खुलासा कर दिया. बैतूल पुलिस ने इस मामले में एडीजे की महिला मित्र संध्या सिंह समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया है. महिला ने एडीजे को कथित रूप से जहरीला आटा दिया था जिसकी रोटियां खाने से उनकी और उनके एक बेटे की मौत हो गई. आटे में कोबरा का जहर मिला होने की आशंका जताई गई है.

हत्या के इस मामले में राज का पर्दाफाश करते हुए पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने बताया कि एडीजे को उनके घर में आटे में मिलाने के लिए जहर इसी महिला ने दिया था. पुलिस ने इस घटना में शामिल तांत्रिक देवीलाल समेत 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जिसमें एक युवक भी शामिल है. 

बताया गया कि आरोपी महिला मित्र ने एडीजे के परिवार में कलह और क्लेश सुधारने के लिए तंत्र-मंत्र से अभिमंत्रित ऐसा आटा एडीजे त्रिपाठी को दिया था जिसमें पहले से ही जहर मिला हुआ था. संभावना जताई जा रही है कि आटे में कोबरा सांप का जहर मिलाया गया था. लेकिन पुलिस का कहना है कि इसका खुलासा आटे के सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाएगा. 

घटना की वजह बताते हुए पुलिस अधीक्षक ने कहा है कि एडीजे और महिला के बीच रुपयों के लेन-देन के विवाद के चलते संध्या सिंह ने हत्या की साजिश रची. उसका उद्देश्य पूरे परिवार को खत्म करना था. पुलिस ने खुलासा किया है कि घटना के दो दिन पूर्व ही महिला मित्र संध्या बैतूल आई थी. उसने सर्किट हाउस के सामने एडीजे का वाहन रुकवाकर अभिमंत्रित आटा उन्हें दिया था. इसके बाद 20 जुलाई को इसी आटे की बनी रोटियां खाने के बाद एडीजे महेंद्र त्रिपाठी, उनके बड़े पुत्र अभिनव राज त्रिपाठी और छोटे पुत्र आशीष त्रिपाठी की तबियत बिगड़ी थी. 


गुरुग्राम: बहुचर्चित जज की पत्नी और बेटे की हत्या मामले में कोर्ट ने आरोपी PSO को सुनाई फांसी की सजा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आधी रोटी खाने वाले आशीष की तो हालत खतरे से बाहर हो गई लेकिन एडीजे और उनके बड़े पुत्र को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. इस मामले को लेकर एडीजे के परिवारजनों ने भी कई सनसनीखेज आरोप आरोपी महिला संध्या सिंह पर लगाए हैं जिसकी जांच की जा रही है. फिलहाल पुलिस कल सभी आरोपियों को जिला न्यायालय में पेश करेगी जहां आरोपियों की पुलिस रिमांड लेकर पूछताछ की जाएगी.