'मिशन चोकसी' टीम की खाली हाथ वापसी, जुलाई तक डोमिनिका में ही रहेगा भगोड़ा

भगोड़े मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को डोमिनिका लेने गई भारत की बहु-एजेंसी टीम को खाली हाथ वापसी करनी पड़ी है. कैरिबियाई देश के हाईकोर्ट ने चोकसी की प्रत्यर्पण (Mehul Choksi extradition) याचिका पर सुनवाई की तारीख को जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया है.

'मिशन चोकसी' टीम की खाली हाथ वापसी, जुलाई तक डोमिनिका में ही रहेगा भगोड़ा

भगोड़े मेहुल चोकसी को वापस नहीं ला सकी भारतीय अधिकारियों की टीम. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भगोड़े मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को डोमिनिका (Dominica) लेने गई भारत की बहु-एजेंसी टीम को खाली हाथ वापसी करनी पड़ी है. कैरिबियाई देश के हाईकोर्ट ने चोकसी की प्रत्यर्पण (Mehul Choksi extradition) याचिका पर सुनवाई की तारीख को जुलाई तक के लिए स्थगित कर दिया है. साथ ही उसके डोमिनिका से प्रत्यर्पण के आदेश को आगे बढ़ा दिया है. आठ सदस्यीय टीम जिसमें प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी और सीबीआई के बैंक सिक्योरिटीज एंड फ्रॉड (मुंबई) डिवीजन के प्रमुख शामिल थे, वे कतर एयरवेज के निजी जेट से भारत वापसी कर रहे हैं. 

कोरोना की दूसरी लहर में 'डेल्टा वैरिएंट' ने मचाया था तांडव: एक्सपर्ट पैनल ने कहा, जानें कितना घातक है ये?

टीम को पूरी उम्मीद थी कि चोकसी को भारत वापस लाया जा सकेगा, अगर डोमिनिका की कोर्ट ने उसके निर्वासन की मंजूरी दे दी होती. लेकिन, डोमिनिका हाईकोर्ट ने गुरुवार को चोकसी की याचिका पर सुनवाई स्थगित कर दी. इस बीच एक अलग कार्यवाही में डोमिनिकन मजिस्ट्रेट की अदालत ने चोकसी को देश में अवैध रूप से प्रवेश करने के आरोप के बाद जमानत देने से इनकार कर दिया. चोकसी के वकीलों ने तर्क दिया था कि अन्य गैर-नागरिकों को इसी तरह के मामलों के लिए जमानत मिली थी. वकीलों के तर्क पर मजिस्ट्रेट ने चोकसी के खिलाफ इंटरपोल नोटिस की ओर इशारा किया.

62 वर्षीय मेहुल चोकसी को कथित तौर पर डोमिनिका के रास्ते एंटीगुआ से क्यूबा भागने की कोशिश करते हुए पकड़ा गया था. वह 23 मई को लापता हो गया था, एंटीगुआ पुलिस द्वारा तलाशी के बाद उसे 27 मई को डोमिनिका में पकड़ा गया था. डोमिनिका में गिरफ्तारी के बाद एंटीगुआ ने कहा कि मेहुल चोकसी को सीधे भारत को सौंप दिया जाना चाहिए. एंटीगुआ न्यूज रूम ने प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन के हवाले से कहा, "हमने उसे (चोकसी) एंटीगुआ वापस नहीं भेजने के लिए कहा था. उसे भारत लौटने की जरूरत है, जहां वह उसके खिलाफ आपराधिक आरोपों का सामना कर सके."

पीएम मोदी को मारने की धमकी देने वाला अरेस्ट, पूछताछ में बोला- 'जेल जाना चाहता था'


हालांकि, चोकसी के वकील ने कहा है कि उनका मुवक्किल अब भारतीय नागरिक नहीं है और उसे केवल एंटीगुआ वापस भेजा जा सकता है, जहां वह पहले से ही अपनी नागरिकता और प्रत्यर्पण से संबंधित मामले लड़ रहा है. गुरुवार को भारत ने कहा कि वह चोकसी को वापस लाने के लिए लड़ाई जारी रखेगा. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, "भगोड़ों को वापस लाने के प्रयासों में भारत अडिग है. वह वर्तमान में डोमिनिका की हिरासत में है और कानूनी कार्यवाही चल रही है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


चोकसी और उसका भतीजा नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक से कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की हेराफेरी करने के मामले में वांछित हैं. नीरव मोदी इस समय लंदन की जेल में बंद है और अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है.