रोम यात्रा के लिए केंद्र की अनुमति नहीं मिलने पर ममता बनर्जी ने लगाया "ईर्ष्या" का आरोप

निवर्तमान जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल, इटली के प्रधान मंत्री मारियो ड्रैगी और पोप फ्रांसिस दो दिवसीय शांति सम्मेलन में आमंत्रित लगभग 500 धार्मिक और राजनीतिक नेताओं में से हैं.

रोम यात्रा के लिए केंद्र की अनुमति नहीं मिलने पर ममता बनर्जी ने लगाया

ममता बनर्जी ने विपक्षी भाजपा पर भवानीपुर में गड़बड़ी पैदा करने का आरोप लगाया (फाइल)

नई दिल्ली:

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Bengal Chief Minister Mamata Banerjee) ने कल केंद्र पर 'ईर्ष्या' का आरोप तब लगाया जब विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) ने उन्हें रोम स्थित कैथोलिक फाउंडेशन, सेंट एगिडियो के समुदाय द्वारा आयोजित सर्व-विश्वास शांति बैठक के लिए इटली की यात्रा करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था. बनर्जी ने कहा कि केंद्र ने उन्हें बताया था कि कार्यक्रम "आपके स्तर के अनुरूप नहीं है."

CM ममता बनर्जी के भवानीपुर सीट से वोटर बने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर

बता दें कि निवर्तमान जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल, इटली के प्रधान मंत्री मारियो ड्रैगी और पोप फ्रांसिस दो दिवसीय शांति सम्मेलन में आमंत्रित लगभग 500 धार्मिक और राजनीतिक नेताओं में से हैं. बनर्जी ने शनिवार को कहा, "रोम में विश्व शांति पर एक बैठक थी, जहां मुझे आमंत्रित किया गया था, जर्मन चांसलर, पोप (फ्रांसिस) को भी भाग लेना था. इटली ने मुझे भाग लेने के लिए विशेष अनुमति दी थी ...फिर भी केंद्र ने मंजूरी से इनकार करते हुए कहा कि यह मुख्यमंत्री के लिए सही नहीं है."

यूपी चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस की डिजिटल तैयारी शुरू, स्वदेशी ‘कू ऐप' पर बढ़ रहा पार्टी का कुनबा

बनर्जी ने कहा, "आप मुझे रोक नहीं पाएंगे. मैं विदेश जाने के लिए उत्सुक नहीं हूं... लेकिन यह राष्ट्र के सम्मान के बारे में था. आप (पीएम मोदी) हिंदुओं के बारे में बात करते रहते हैं ... मैं भी एक हिंदू महिला हूं. आपने मुझे अनुमति क्यों नहीं दी? आप पूरी तरह से ईर्ष्यावान हैं." 


ममता का पीएम मोदी और अमित शाह पर वार, कहा- हम भारत को तालिबान नहीं बनाने देंगे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com