मध्‍य प्रदेश : कई सप्‍ताह से लापता एक परिवार के पांच सदस्‍यों के शव 8 फीट गहरे गड्ढे में मिले 

पुलिस ने बताया कि मकान मालिक, जो पीडि़तों में से से एक के साथ रिलेशनशिप में था, और उसके साथी इस वारदात के पीछे हैं. मुख्‍य आरोपी सुरेंद्र और चार अन्‍य संदिग्‍धों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि सात अन्‍य की तलाश की जा रही है. 

मध्‍य प्रदेश : कई सप्‍ताह से लापता एक परिवार के पांच सदस्‍यों के शव 8 फीट गहरे गड्ढे में मिले 

शवों को 8 से 10 फीट गहरे गड्ढे में दफन कर दिया था

देवास :

पिछले करीब एक माह से लापता एक परिवार के पांच लोगों के शव मंगलवार शाम को मध्‍य प्रदेश के देवास जिले के एक खेत से निकाले गए. पांचों की गला घोंटकर हत्‍या की गई थी और उन्‍हें पहले से ही खोदे गए 8 से 10 फीट गहरे गड्ढे में दफन कर दिया गया था. पुलिस के अनुसार, 45 साल की ममता, उसकी दो बेटियां (21 साल की रूपाली और 14 साल की दिव्‍या) और इन बेटियों  दो कजिन देवास के अपने घर से 13 मई से लापता हुई थीं. पुलिस ने बताया कि इनके मकान मालिक, जो पीडि़तों में से से एक के साथ रिलेशनशिप में था, और उसके करीब एक दर्जन साथी इस वारदात के पीछे हैं. मुख्‍य आरोपी सुरेंद्र और चार अन्‍य संदिग्‍धों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि सात अन्‍य की तलाश की जा रही है. 

मध्‍य प्रदेश में 'ग्रीन फंगस' का मामला सामने आया, देश में संभवत: ऐसा पहला केस

जब पुलिसवालों ने आठ फीट गहरे गड्ढे को खोदा तो उन्‍हें अलग अलग कब्र से पांच सड़े-गले शव मिले, इनमें से किसी के शव पर कपड़ा नहीं थे. आरोपियों ने कपड़ों को मिलाकर जला दिया था. यही नहीं, शवों को नमक और यूरिया से कवर किया गया था ताकि ये जल्‍द ही 'नष्‍ट' हो जाएं. देवास के पुलिस अधिकारी शिव दयाल सिेह ने बताया, 'सुरेंद्र चौहान सहित छह लोगों को अरेस्‍ट किया गया है. जहां चौहान ने हत्‍या की योजना बनाई और इसे अंजाम दिया जबकि पांच अन्‍य लोगों ने गड्ढा खोलने में उसकी मदद की ताकि शवों को दफन किया जा सके.' परिवार ने इन लोगों के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी और इन्‍हें खोजने के प्रयास किए जा रहे है. 'हत्‍यारों' ने सोशल मीडिया पर महिला की बड़ी बेटी के आईडी से मैसेज पोस्‍ट करके पुलिस को मामले में भ्रमित करने का भी प्रयास किया. मैसेज में दावा किया गया था कि रूपाली ने अपने इच्‍छा के अनुसार शादी कर ली है. छोटी बहन, दोनों कजिन और मां उसके साथ हैं और सुरक्षित हैं.


MP: भाजयुमो नेता को समर्थकों की भीड़ के बीच बर्थडे मनाना पड़ा महंगा, 10 हजार रु. का जुर्माना 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस ने रूपाली के मोबाइल को 'ट्रैक' किया. उसके कॉल डिटेल्‍स से पता चला कि वह अपने घर के मालिक के साथ लगातार संपर्क में थी. मकान मालिक से पूछताछ की गई लेकिन वह अपने रिलेशनशिप के सवाल पर इनकार करता रहा. पुलिस ने उस पर निगाह बनाए रखी तो पता चला कि 13 मई से वह पांच अन्‍य लोगों के लगातार संपर्क में है. इन पांचों से अलग-अलग पूछताछ की गई तो पुलिस को मामले का सुराग लगा. सुरेंद्र का इस परिवार के घर में आना जाना था.हालांकि वह रूपाली के साथ रिलेशनशिप में था लेकिन एक अन्‍य महिला से शादी की योजना बना रहा था. रूपाली को जब यह बात पता चली तो उसने, मंगेतर की फोटो एक सोशल मीडिया साइट पर नंबर के साथ पोस्‍ट कर दी. इससे सुरेंद्र नाराज हो गया और इसके बाद कथित तौर पर उसने रूपाली और अन्‍य को खत्‍म करने की योजना बनाई.