धरने पर डटे बुजर्ग किसान की मौत, लापरवाही के चलते सोनीपत के अस्‍पताल में चूहों ने कुतरा शव..

मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है, जिसमें डॉ.सुशील जैन, डॉ.संदीप लठवाल व डॉ.गिन्नी लांबा को शामिल किया गया है. समि‍ति की रिपोर्ट पर कार्रवाई की जाएगी.

धरने पर डटे बुजर्ग किसान की मौत, लापरवाही के चलते सोनीपत के अस्‍पताल में चूहों ने कुतरा शव..

चंडीगढ़:

Kisan Aandolan: सोनीपत के सिविल हॉस्पिटल में शव को लेकर एक बड़ी लापरवाही देखने को मिली है. यहां किसान आंदोलन में डटे हुए बुजुर्ग राजेंद्र की देर रात संदिग्ध कारणों के चलते मौत हो गई थी. राजेंद्र के शव को सोनीपत के सिविल हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम के लिए रखवाया गया था लेकिन हॉस्पिटल के शवगृह में मृतक की आंख-पैर को चूहों द्वारा कुतरने का मामला सामने आया है. मामले के चलते राजेंद्र के परिजनों ने हॉस्पिटल में जमकर हंगामा किया. मौके पर पहुंचे सीएमओ और पीएमओ की ओर से कार्रवाई के आश्वासन देने के बाद भी स्थिति शांत हुई. शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है और 3 सदस्य कमेटी बनाकर जांच के आदेश दिए हैं.

''...तो हम अपनी फसल जला देंगे'' : राकेश टिकैत ने सरकार को दी चेतावनी

कृषि कानूनों (Farm laws) को रद्द करने की मांग को लेकर कुंडली धरना स्थल पर एक और बुजुर्ग किसान की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई. परिजनों ने देर रात उनका शव  अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस में फ्रीजर के अंदर रखवा दिया, जहां पर शव को चूहों ने कुतर दिया. सुबह ग्रामीण व परिजन जब अस्पताल पहुंचे तो इसका पता चला. इस पर नाराजगी जताते हुए ग्रामीणों व परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया. उन्होंने लापरवाही बरतने वाले कर्मी पर कार्रवाई की मांग की. मौके पर पहुंचे सीएमओ व पीएमओ ने जांच का आश्वासन दिया, इसके बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही मौत के कारणों का पता लग सकेगा.

'हल्के में न लें किसान आंदोलन', चंडीगढ़ में प्रदर्शन स्थल पहुंचकर अमरिंदर सिंह ने केंद्र को चेताया

जानकारी के मुताबिक, गांव बैंयापुर के राजेंद्र सरोहा (70) चार दिन से कुंडली धरना स्थल पर मौजूद थे. वह पहले भी धरना स्थल पर आते-जाते थे, लेकिन चार दिन से गांव रसोई के पास डटे हुए थे. बुधवार देर रात अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई. राजेंद्र को अस्पताल में ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. परिजन उनके शव को पोस्टमार्टम करवाने के लिए पोस्टमार्टम हाउस (शव विच्छेदन गृह) में फ्रीजर के अंदर रखकर चले गए. गुरुवार सुबह जब परिजन अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए पहुंचे तो पता लगा कि राजेंद्र के शव के कुछ अंगों को चूहों ने कुतर दिया है. गौरतलब है कि कुंडली धरना स्थल पर अब तक 19 किसानों की मौत हो चुकी है. 


असंतुष्‍टों को चुप कराने के लिए नहीं किया जा सकता राजद्रोह कानून का इस्‍तेमाल : कोर्ट

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएमओ डॉ. जयभगवान ने बताया कि मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाई गई है, जिसमें डॉ.सुशील जैन, डॉ.संदीप लठवाल व डॉ.गिन्नी लांबा को शामिल किया गया है. समि‍ति की रिपोर्ट पर कार्रवाई की जाएगी. डॉ. लठवाल ने कहा पोस्टमार्टम हाउस में ड्यूटी देने वाले सभी कर्मियों के बयान दर्ज किए जाएंगे, जिसके आधार पर पता लग सकेगा कि किसकी लापरवाही थी.गौरतलब है कि सोनीपत का सिविल हॉस्पिटल पहले भी सफाई व्यवस्था की बदहाल हालत को लेकर चर्चा में रहा है.