करनाल: किसानों और प्रशासन के बीच आज टकराव खत्म होने के आसार, बातचीत में बाधा बनी बारिश

करनाल में प्रशासन के खिलाफ तीन दिनों से जारी किसानों का धरना प्रदर्शन नरम होता दिखाई दे रहा है. किसान नेताओं और प्रशासन के बीच आज सकारात्मक बातचीत हुई है.

करनाल:

करनाल में बीते दिनों किसानों पर हुए लाठीचार्ज के बाद से प्रशासन और किसान संगठनों के बीच जारी तनातनी शुक्रवार को कम होती नजर आई. दोनों पक्षों के बीच शनिवार को फिर बैठक होनी है. बारिश के चलते किसानों और प्रशासन की बातचीत अभी शुरू नहीं हो पाई है.  किसान नेताओं ने संकेत दिया है कि कई मांगों को प्रशासन मानने पर राजी है, कुछ मांगों पर सहमति नहीं है. किसानों का 14 सदस्यीय कमेटी की आज फिर प्रशासन से बातचीत होगी. लगातार बारिश से धरना स्थल पर लगे टेंट और तंबू भीग चुके हैं. किसानों की तीन बजे की बैठक अब जाट भवन में हो सकती है. जाट भवन के बाहर भी सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए जा रहे हैं. 

पुलिस और प्रशासन की बेरुखी से नाराज किसान अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे हैं. 28 अगस्त को हुए लाठीचार्ज के संबंध में कार्रवाई की मांग को लेकर करनाल जिला मुख्यालय के बाहर तीसरे दिन भी किसानों का धरना जारी रहा. किसानों का धरना खत्म कराने के लिए प्रशासन ने शुक्रवार को किसान नेताओं से लंबी वार्ता की. शुक्रवार को चार घंटे तक चली किसान नेताओं और प्रशासन के बीच बैठक में सकारात्मक बातचीत हुई है.


करनाल में चल रहा किसानों का धरना शायद जल्द खत्म हो जाए. कल जब किसान नेता प्रशासन से 4 घण्टे बातचीत कर बाहर निकले तो, पहली बार उनके चहेरे खिले हुए थे. किसान नेताओं ने कहा कि बातचीत काफी सकारात्मक रही. उन्होंने कहा कि हर पहलू पर बात हुई है. शनिवार को एक बार फिर से बातचीत के लिए सुबह 9 बजे बुलाया गया है. किसान नेताओं ने कहा कि उम्मीद है कि आज पूरा फाइनल फैसला आ जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


किसान नेताओं का कहना है कि प्रशासन का रुख नरम हुआ है. संयुक्त किसान मोर्चा के तमाम नेताओं को प्रशासन के साथ हुई बातचीत के बारे में बताया जाएगा, ताकि आज फाइनल फैसला लिया जा सके. उम्मीद है आज हल निकल सकता है.