कंगना को अपने काम पर ध्यान देना चाहिए, उन्होंने सिखों पर गलत बयान दिएः मनजिंदर सिंह सिरसा

कंगना रनौत शुक्रवार को पंजाब के कीरतपुर में प्रदर्शनकारी किसानों के बीच घिर गईं थी. कंगना, सिक्‍योरिटी स्‍टाफ के साथ कार में थीं, इसी दौरान प्रदर्शनकारियों ने उनकी कार को रोक दिया.

नई दिल्ली:

अभिनेत्री कंगना रनौत को आज शुक्रवार को  पंजाब के कीरतपुर में प्रदर्शनकारी किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा. किसानों ने कंगना रनौत की कार रोक ली और उनसे माफी मांगने को कहा. कंगना किसान आंदोलन को लेकर कई बार विवादित बयान दे चुकी हैं. इस बारे में एनडीटीवी ने भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा से खास बातचीत की. कंगना पर सवाल पूछे जाने पर मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, "वो एक कलाकार हैं. उनको अपने काम पर ध्यान देना चाहिए. उन्होंने जो सिखों के प्रति अपनी भावनाएं व्यक्त कीं, वो गलत है." 

मनजिंदर सिंह ने कहा कंगना रनौत ने देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के सिखों की भावनाओं को आहत किया है. सिरसा ने कहा, ''कभी यह कहना कि प्रदर्शन के लिए 100-200 रुपये में बिकाऊ औरतें लाकर खड़ी की गई हैं. आखिरकार वो हमारी मां और बहनें हैं और लंबे समय से उन्होंने किसान संघर्ष में साथ दिया है. उन्हीं के कारण यह जीत संभव हुई और देश के प्रधानमंत्री ने बड़े विनम्रता पूर्वक तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने का फैसला लिया. कोई इंसान कल्पना भी कैसे कर सकता है कि किसानों के बारे में ऐसे बयान दिए जाएं''.

उन्होंने कहा, ''पहले हमें यह समझना चाहिए जब भी हम इसके बारे में बोलेत हैं तो पीएम की कुर्सी की गरिमा को चोट पहुंचती है. पीएम ने खुद इन बिलों को रद्द किया है और गुरुनानक जी के प्रकाश पर्व के दिन उन्हें समर्पित करते हुए यह फैसला लिया है. ऐसे में कंगना की बयानबाजी से दुनिया भर के सिख आहत हुए हैं.''

इसके बाद उन्होंने कहा, ''मैंने कंगना के विवादित बयानों के खिलाफ खुद मुंबई जाकर मुकदमा कराया है और इस मुकदमे को आगे भी ले जाएंगे. और आज जो मुझे बताया गया है, वह यह है कि कंगना रनौत ने इस जीच के लिए माफी मांगी है. उन्होंने माना है कि उनके बयान गलत थे. कंगना के माफी मांगने के तुरंत बाद वहां मौजूद महिलाओं ने उन्हें माफ कर दिया और बेट कह कर जाने दिया.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि कंगना रनौत शुक्रवार को पंजाब के कीरतपुर में प्रदर्शनकारी किसानों के बीच घिर गईं थी. कंगना, सिक्‍योरिटी स्‍टाफ के साथ कार में थीं, इसी दौरान प्रदर्शनकारियों ने उनकी कार को रोक दिया. प्रदर्शनकारियों ने किसानों और कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग करने वालों के खिलाफ बयानबाजी के लिए कंगना से माफी की मांग की. इंस्‍टाग्राम पर एक वीडियाो पोस्‍ट करते हुए कंगना ने दावा किया, 'मुझे यहां भीड़ ने घेर लिया है. ये मेरे खिलाफ अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल कर रहे और मुझे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं.