जम्‍मू कश्‍मीर: परिसीमन आयोग के खिलाफ मार्च से पहले ही तीन मुख्‍यमंत्रियों सहित PAGD नेता नजरबंद

परिसीमन आयोग की सिफारिशों के खिलाफ गुपकर घोषणापत्र गठबंधन (पीएजीडी) द्वारा मार्च निकाले जाने से पहले तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों सहित कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है. 

जम्‍मू कश्‍मीर: परिसीमन आयोग के खिलाफ मार्च से पहले ही तीन मुख्‍यमंत्रियों सहित PAGD नेता नजरबंद

पीएजीडी ने परिसीमन आयोग के प्रस्ताव के खिलाफ प्रदर्शन करने की बात कही थी. (फाइल फोटो)

श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में परिसीमन आयोग (Delimitation Commission) की सिफारिशों के खिलाफ गुपकर घोषणापत्र गठबंधन (People's Alliance for Gupkar Declaration) द्वारा मार्च निकाले जाने से पहले तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों सहित कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है. पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्‍ला के पुत्र एवं नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा, “सुप्रभात और 2022 का स्वागत. उसी जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ एक नए साल की शुरुआत जो अवैध रूप से लोगों को उनके घरों में बंद कर रही है और प्रशासन सामान्य लोकतांत्रिक गतिविधि से इतना डरा हुआ है.”

उन्होंने कहा, “गुपकर गठबंधन के शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन को रोकने के लिए ट्रक हमारे गेट के बाहर खड़े हैं. कुछ चीजें कभी नहीं बदलतीं.”

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा, “एक अराजक पुलिस राज्य की बात करें, तो पुलिस ने मेरे पिता के घर को मेरी बहन के घर से जोड़ने वाले आंतरिक द्वार को भी बंद कर दिया है. फिर भी हमारे नेताओं के पास दुनिया को यह बताने की हिम्मत है कि भारत सबसे बड़ा लोकतंत्र है.”

माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़, 12 की मौत, 14 घायल: PM मोदी ने जताया शोक, मुआवजे का ऐलान

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के वरिष्ठ नेता एवं गठबंधन के प्रवक्ता एम वाई तारिगामी ने कहा कि यह दुखद है कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन “इतना डरा हुआ है कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अनुमति नहीं दे पा रहा है.”

उन्होंने कहा, “यही स्थिति तब और भी खराब हो जाती है जब लोगों को जनता के सामने अपनी राय रखने की भी अनुमति नहीं होती है.” 

J&K में आतंकवाद पर प्रहार; 2021 में 100 ऑपरेशन में 182 आतंकवादी ढेर, 44 टॉप आतंकी भी गोली का शिकार

पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को भी नजरबंद किया गया है. उन्होंने कहा, 'मेरे घर के बाहर भी एक ट्रक खड़ा है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएजीडी ने जम्मू संभाग में विधानसभा की छह और कश्मीर में एक सीट बढ़ाने के परिसीमन आयोग के प्रस्ताव के खिलाफ शनिवार को श्रीनगर में प्रदर्शन करने की बात कही थी. आयोग की सिफारिशों के बाद जम्मू में सीट संख्या 43 और कश्मीर में 47 हो सकती है.