विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Feb 07, 2020

शाहीन बाग में हुआ हवन, फातिमा ने पढ़े मंत्र, लोगों ने कहा- मोदी, शाह जी आज धर्म पहचानिए

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शाहीन बाग में चल रहे धरने के पचास दिन से ज्यादा हो गए हैं. बीजेपी के नेता जहां शाहीन बाग को आतंकियों का अड्डा बता रहे हैं वहीं शाहीन बाग के लोग नेताओं की सद्बुद्धि के लिए हवन कर रहे हैं.

Read Time: 15 mins
शाहीन बाग में हुआ हवन, फातिमा ने पढ़े मंत्र, लोगों ने कहा- मोदी, शाह जी आज धर्म पहचानिए
शाहीन बाग में हवन हुआ.
नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शाहीन बाग में चल रहे धरने के पचास दिन से ज्यादा हो गए हैं. बीजेपी के नेता जहां शाहीन बाग को आतंकियों का अड्डा बता रहे हैं वहीं शाहीन बाग के लोग नेताओं की सद्बुद्धि के लिए हवन कर रहे हैं. गुरुवार को धरना स्थल मंत्र उच्चारण और अजान से गूंज उठा. कपड़े से धर्म का अंदाजा लगाना मुश्किल हो रहा था. फातिमा नाम की एक महिला मंत्रोच्चार कर रही थीं सिर पर टोपी लगाकर सुनील भार्गव हवन कर रहे थे.  सुनील भार्गव ने कहा, 'मोदी जी मैं सुनील भार्गव हूं मैं हवन भी कर रहा हूं मैंने टोपी भी लगा रखी है मेरी मुस्लिम बहन ने गायत्री मंत्र पढ़ा है.मोदी और शाह जी आज आप हमारे कपड़ों से धर्म को पहचानिए. वहीं इसी भीड़ में अलेक्जेंडर जो कि ईसाई हैं उन्होंने भी माथे पर टीका लगा रखा था. इनके कपड़ों से भी धर्म का पता नहीं लगाया जा सकता था. शाहीन बाग में जब हवन हो रहा था तो इसी बीच बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या ने कहा कि ऐसे प्रदर्शनों से मुगलराज कायम हो जाएगा तो केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि शाहीन बाग में आत्मघाती तैयार हो रहे हैं.

Advertisement

दिल्ली में चुनाव से पहले जामिया और शाहीन बाग में सुरक्षा बढ़ाने की मांग

नेताओं के इस बयानबाजी पर शाहीन बाग के बुजुर्गों की राय कुछ और थी. वहीं मौजूद एक बुजुर्ग महिला ने कहा,'हमें मारना नहीं सीखाया गया है हमें बात करना सिखाया गया है सभी धर्मों में यहीं सिखाया जाता है'. गौरतलब है कि दिल्ली में चुनाव प्रचार थम गया है लेकिन शाहीन बाग में बैठे लोगों की नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जद्दोजहद नहीं खत्म हुई है. 

Advertisement

CAA को लेकर हो रहे प्रदर्शनों के बीच दिल्ली में 'अस्थायी जेल' बनाने की तैयारी? जाने पूरा मामला...

Advertisement

आपको बता दें कि शाहीन बाद में नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ बीते करीब 2 महीने से धरना प्रदर्शन चल रहा है. इस दौरान वहां पर फायरिंग से लेकर कथित 'स्टिंग ऑपरेशन' तक के घटनाक्रम हुए हैं. इस प्रदर्शन के चलते नोएडा को दिल्ली और फरीदाबाद से जोड़ने वाले सरिता विहार- कालिंदी कुंज का रास्ता बंद चल रहा है. जिसकी वजह से स्थानीय लोगों और इस रास्ते से गुजरने वालों को दिक्कतों का भी सामना करना पड़ रहा है. ये मामला दिल्ली हाईकोर्ट में भी उठ चुका है. हाईकोर्ट ने कहा है कि दिल्ली पुलिस प्रदर्शनकारियों को समझाए. वहीं सुप्रीम कोर्ट में भी मामले की सुनवाई सोमवार को होगी.  

Advertisement

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
"मेरा बच्चा छीन लिया..." : अनीश की मां का दर्द सुन लो पोर्शे वाले रईसजादे
शाहीन बाग में हुआ हवन, फातिमा ने पढ़े मंत्र, लोगों ने कहा- मोदी, शाह जी आज धर्म पहचानिए
Exclusive : "हमारा पलड़ा बहुत भारी है...", 2024 के चुनाव परिणाम पर NDTV से बोले PM मोदी
Next Article
Exclusive : "हमारा पलड़ा बहुत भारी है...", 2024 के चुनाव परिणाम पर NDTV से बोले PM मोदी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;