डोमिनिका में जेल में बंद भगोड़े मेहुल चोकसी को मेडिकल आधार पर मिली जमानत

वह एंटीगुआ और बारबुडा से लापता हो गया था, जहां वह भारत से भागने के बाद 2018 से रह रहा था. 62 वर्षीय हीरा कारोबारी 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में भारत में वांछित है.

डोमिनिका में जेल में बंद भगोड़े मेहुल चोकसी को मेडिकल आधार पर मिली जमानत

नई दिल्ली:

अवैध रूप से प्रवेश करने के आरोप में 23 जुलाई से डोमिनिका की जेल में बंद भगोड़े मेहुल चौकसी को वहां की कोर्ट ने मेडिकल आधार पर जमानत दे दी है. वह एंटीगुआ और बारबुडा से लापता हो गया था, जहां वह भारत से भागने के बाद 2018 से रह रहा था. 62 वर्षीय हीरा कारोबारी 13,500 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में भारत में वांछित है.

भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने आरोप लगाया था कि डोमिनिका में अवैध प्रवेश के लिए उसकी गिरफ्तारी भारत सरकार के प्रतिनिधियों के ‘कहने' पर हुई और उसने अपने खिलाफ कार्यवाही रद्द करने की मांग करते हुए रोसीयू के उच्च न्यायालय में एक मामला दर्ज कराया था. वहां स्थानीय मीडिया में आयी खबरों के अनुसार, कैरेबियाई देश के आव्रजन मंत्री, उसके पुलिस प्रमुख और मामले के जांच अधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था.


फ्रॉड के आरोपियों विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी की 9,371 करोड़ की संपत्ति सरकारी बैंकों को स्थानांतरित

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हीरा कारोबारी ने डोमिनिका में उच्च न्यायालय का रुख करते हुए आरोप लगाया कि रोसीयू में कार्यवाहक पुलिस प्रमुख लिंकन कॉर्बेट और जांच अधिकारी सर्जेंट एलीने का अवैध प्रवेश के लिए उस पर आरोप लगाना ‘उनके स्वतंत्र निर्णय का नतीजा नहीं है.' चोकसी ने आरोप लगाया, ‘उन्होंने तीसरे पक्ष भारत सरकार के प्रतिनिधियों के कहने पर ऐसा किया.'