Drugs Case: रकुल प्रीत सिंह, राणा दग्गुबाती समेत कई ऐक्टर्स को ED ने किया तलब

हाई प्रोफाइल इस ड्रग्स केस में काफी समय से जांच जारी है. मामले में अब तक कई सेलेब्रिटीज से पूछताछ भी की जा चुकी है. कई गिरफ्तारियां भी हो चुकी हैं.

Drugs Case: रकुल प्रीत सिंह, राणा दग्गुबाती समेत कई ऐक्टर्स को ED ने किया तलब

Drugs Case: राणा दग्गुबाती और रकुल प्रीत समेत 10 लोगों को ED का समन. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

चार साल पुराने ड्रग्स मामले में शीर्ष अभिनेताओं में शुमार रकुल प्रीत सिंह, राणा दग्गुबाती और 10 अन्य कलाकारों से  पूछताछ की जाएगी. सूत्रों ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने 6 सितंबर को रकुल प्रीत सिंह, 8 सितंबर को बाहुबली अभिनेता राणा दग्गुबाती, 9 सितंबर को तेलुगु अभिनेता रवि तेजा और 31 सितंबर को निर्देशक पुरी जगन्नाथ को तलब किया है. रकुल प्रीत सिंह, राणा दग्गुबाती, रवि तेजा या पुरी जगन्नाथ को आरोपी नहीं बनाया गया है. एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा, "यह कहना जल्दबाजी होगी कि वे मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल हैं या नहीं."

2017 में, तेलंगाना आबकारी और निषेध विभाग ने ₹ 30 लाख का ड्रग्स जब्त करने के बाद 12 मामले दर्ज किए थे. 11 मामलों में चार्जशीट दाखिल की गई है. बाद में प्रवर्तन निदेशालय ने आबकारी विभाग के मामलों में मनी लॉन्ड्रिंग के एंगल से जांच शुरू की.

गुंडों को पैसे देने से मना करने पर महिला के साथ गैंगरेप, बॉयफ्रेंड को बेरहमी से पीटा

तेलंगाना आबकारी विभाग अब तक ड्रग्स मामले में 30 लोगों को गिरफ्तार कर चुका है और 62 अन्य से पूछताछ कर चुका है. जिन लोगों से पूछताछ की गई उनमें से ग्यारह फिल्म उद्योग से जुड़े हुए हैं.

पिछले कुछ वर्षों में हैदराबाद में ड्रग्स की तस्करी के कई मामले सामने आए हैं.

सबसे बड़ी खेप जुलाई 2017 में जब्त की गई थी. 2017 में मारे गए छापे में कम से कम 13 लोगों से भारी मात्रा में एलएसडी और कोकीन जब्त की गई थी.

आबकारी विभाग ने कहा कि ड्रग्स का इस्तेमाल करने में ज्यादातर स्कूल और कॉलेज के छात्र हैं. कम से कम 26 स्कूलों और 27 कॉलेजों और अभिभावकों को भी सूचित किया गया.


बिहार : रक्षाबंधन पर बहन से सांप को राखी बंधवा रहा था संपेरा भाई, पैर पर डंसने से मौत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गिरफ्तार किए गए लोगों के बारे में कहा जाता है कि वे गोवा और हैदराबाद में पबों, शैक्षणिक संस्थानों और रेव पार्टियों में प्रतिबंधित दवाओं के प्रमुख सप्लायर हैं, जिनका संबंध पुणे, मुंबई और दिल्ली से भी है. अधिकारियों ने कहा कि डीलर पढ़े-लिखे हैं और उनमें से कुछ शीर्ष कंपनियों में कार्यरत हैं. गिरफ्तार लोगों में छह इंजीनियरिंग स्नातक हैं.