यह ख़बर 24 दिसंबर, 2013 को प्रकाशित हुई थी

देवयानी खोबरागड़े के दस्तावेज की कर रहे हैं समीक्षा : अमेरिका

फाइल फोटो

वाशिंगटन:

एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि अमेरिका को संयुक्त राष्ट्र से वरिष्ठ भारतीय राजनयिक देवयानी खोबरागड़े की राजनयिक मान्यता से संबंधित, जो दस्तावेज मिले हैं उस पर अध्ययन किया जा रहा है।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की एक प्रवक्ता ने बताया, हमें संयुक्त राष्ट्र से शुक्रवार को देर राज कागजात मिले हैं। इसकी समीक्षा की जा रही है। बहरहाल, प्रवक्ता ने इस बाबत कुछ बताने से इनकार कर दिया कि विदेश मंत्रालय कब तक कागजात का अध्ययन पूरा कर लेगा। उसने यह भी बताने से इनकार कर दिया कि सारे कागजात ठीक-ठाक हैं या नहीं और कब देवयानी को उसका पहचान पत्र सौंपा जाएगा।

न्यूयॉर्क में भारतीय वाणिज्य दूतावास में वाणिज्य उप-महादूत के पद पर कार्यरत देवयानी को 12 दिसंबर को तब गिरफ्तार कर लिया गया, जब न्यूयॉर्क की एक अदालत ने वीजा जालसाजी के आरोपों के तहत उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया।

भारत ने देवयानी की गिरफ्तारी और उसके बाद उससे बदसलूकी का कड़ा विरोध किया। बाद में भारतीय राजनयिक ढाई लाख डॉलर के मुचलके पर रिहा कर दी गई। न्यूयॉर्क अदालत ने उनसे अपना राजनयिक पासपोर्ट जमा करने को कहा।

उसके तुरंत बाद भारत सरकार ने देवयानी का तबादला संयुक्त राष्ट्र के अपने स्थाई मिशन में कर दिया ताकि उन्हें पूरी राजनयिक छूट हासिल हो सके।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


संयुक्त राष्ट्र ने उनका तबादला स्वीकार कर लिया और उसने अमेरिकी विदेश मंत्रालय को पहचान पत्र जारी करने के लिए आवश्यक दस्तावेज भेज दिया। पहचान पत्र से देवयानी को पूरी राजनयिक छूट हासिल हो जाएगी।