डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट का जून में पता चला, महाराष्‍ट्र से आया था वेरिएंट का पहला केस: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार  पहली बार डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट की जानकारी 11 जून को लगी थी, वो भी महाराष्ट्र के पुराने 5 अप्रैल के सैंपल के जरिए Delta प्लस की बात सामने आई थी. 

डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट का जून में पता चला, महाराष्‍ट्र से आया था वेरिएंट का पहला केस: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट के दुनियाभर में हैं 200 से ज्‍यादा केस
  • महाराष्‍ट्र के 5 अप्रैल के सैंपल से लगा था इसका पता
  • देश में डेल्‍टा वेरिएंट के 40 के करीब मामले हैं
नई दिल्ली:

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने Delta के सभी वेरिएंट को 'चिंता का विषय' (Variant of concern) हैं. नए वेरिएंट डेल्‍टा प्‍लस के बारे में टिप्‍पणी करते हुए मंत्रालय ने यह बात की. मंत्रालय के अनुसार, डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट के दुनिया में 205 मामले हैं, इसमें आधे से ज्‍यादा मामले अमेरिका और ब्रिटेन में हैं. पहली बार इस वेरिएंट की जानकारी 11 जून को लगी थी, वो भी महाराष्ट्र के पुराने 5 अप्रैल के सैंपल के जरिए Delta प्लस की बात सामने आई थी. देश में डेल्‍टा वेरिएंट के 40 के करीब मामले हैं, अब तक 45 हजार से ज्यादा जीनोम सीक्वेंसिंग हो चुकी है. गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने मंगलवार की प्रेस कांफ्रेंस में डेल्टा प्लस वेरिएंट को 'वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट' बताया था, वेरिएंट ऑफ कंसर्न नहीं. लेकिन शाम होते-होते यह वेरिएंट (डेल्टा प्लस) 'वेरिएंट ऑफ कंसर्न' हो गया.

मध्‍य प्रदेश के टीकाकरण के रिकॉर्ड पर जयराम रमेश ने किया ट्वीट, 'हम किसे मूर्ख बनाने की कोशिश...'

ऐसी चर्चाएं हैं कि देश में तीसरी लहर (Corona Third Wave) इस वेरियंट के चलते आ सकती है. देश में अब तक इस वेरियंट से संक्रमित 40 से ज़्यादा केस सामने आ चुके हैं, जिसमें सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में हैं. जानकारी के अनुसार, डेल्टा प्लस वेरियंट के मामले सिर्फ तीन राज्यों केरल, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में ही नही हैं. ये दूसरे राज्यों में भी पाए जा रहे हैं, लेकिन वे बिखरे हुए तरीके से पाए जा रहे हैं. अभी तक महाराष्ट्र में 21, मध्य प्रदेश में 6, केरल में 3, पंजाब में 1, तमिलनाडु में 3 और आंध्र प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और पंजाब में 1-1 मरीज मिले हैं.


भारत में पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 50,848 नए COVID-19 केस और 1,358 मौतें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से राज्यों को चिट्ठी लिखकर बताया  गया है कि कैसे डेल्टा प्लस वेरियंट को डील करना है. स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को  बताया कि हम नहीं चाहते हैं कि डेल्टा प्लस वेरियंट आगे बढ़े.विशेषज्ञों का मानना है कि डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट, देश में कोरोना की तीसरी लहर का कारण बन सकता है.