DELHI: बच्चों की जिंदगी की प्लेन के पायलट हैं शिक्षक, टीचर्स डे पर मनीष सिसोदिया ने कहा

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शिक्षक दिवस पर कहा कि शिक्षक हमारे पायलट के तरह होते हैं. बच्चों की जिंदगी का प्लेन उड़ाने का काम इन पायलट के हाथ में और हमारा काम ग्राउंड स्टाफ का है.

DELHI: बच्चों की जिंदगी की प्लेन के पायलट हैं शिक्षक, टीचर्स डे पर मनीष सिसोदिया ने कहा

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शिक्षक दिवस पर शिक्षकों को किया सम्मानित. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

शिक्षक दिवस (Teachers Day) के मौके पर दिल्ली (Delhi) के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने टीचर्स को सम्मानित किया. शिक्षक सम्मान कार्यक्रम के दौरान सिसोदिया ने कहा कि आज लोग पूछते हैं कि दिल्ली की शिक्षा में इतना बड़ा बदलाव कैसे हो गया. लोगों को यकीन नहीं होता कि सरकारी स्कूलों के बच्चे प्राइवेट स्कूलों से कम्पीट कैसे करने लगे. कोरोना काल को छोड़कर बीते 5 सालों में दिल्ली सरकार ने इस दिशा में काम किया है.

उन्होंने कहा कि शिक्षक हमारे पायलट के तरह होते हैं. बच्चों की जिंदगी का प्लेन उड़ाने का काम इन पायलट के हाथ में और हमारा काम ग्राउंड स्टाफ का है. आज दुनियाभर से लोग दिल्ली के सरकारी स्कूलों को देखने आ रहे हैं. इसका क्रेडिट मैं शिक्षकों को देना चाहूंगा. हमने इसबार के टीचर्स अवार्ड में कुछ तब्दीलियां की.

सिसोदिया ने कहा कि हमने विदेशों में टीचर्स की ट्रेनिंग कराई है. दुनिया की सबसे बड़ी 100 यूनिवर्सिटीज में एजुकेशन के जो रेगुलर प्रोग्राम चलते हैं. वहां के टीचर ट्रेनिंग के बेस्ट प्रोग्राम में हमारे टीचर अप्लाई करें. इस ट्रेनिंग में आने वाला पूरा खर्च अब दिल्ली सरकार उठाएगी. अब तक हम कहते थे कि हमारे टीचर्स के लिए कोई ट्रेनिंग प्रोग्राम बना दीजिए, लेकिन अब टॉप यूनिवर्सिटीज द्वारा पहले से चलाई जा रही टीचर ट्रेनिंग भी हमारे शिक्षक ले सकेंगे.


यह मेरी जिम्मेदारी है कि आपको वर्ल्ड क्लास एक्सपोजर मिले, लेकिन आप शिक्षकों की जिम्मेदारी है कि दिल्ली के बच्चों को वर्ल्ड क्लास एजुकेशन मिले.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यह भी पढ़ेंः