दिल्ली दंगों के मामले में जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद को मिली जमानत

Delhi High court ने कहा कि खालिद को अनिश्चितकाल के लिए जेल में सिर्फ इस आधार पर नहीं रखा जा सकता है कि दंगों से जुड़े मामलों में अभी बहुत सारे लोगों की पहचान बाकी है और उन्हें गिरफ्तार भी किया जाना है. 

दिल्ली दंगों के मामले में जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद को मिली जमानत

नई दिल्ली:

North East Delhi Violence case: दिल्ली हाईकोर्ट ने जेएनयू के पूर्व छात्र को उमर खालिद (Umar Khalid) को दंगे से जुड़े मामले में जमानत दे दी है. खालिद को पिछले साल दंगों में अहम भूमिका के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.
कोर्ट ने कहा कि खालिद को अनिश्चितकाल के लिए जेल में सिर्फ इस आधार पर नहीं रखा जा सकता है कि दिल्ली दंगों (Delhi Riot Case) से जुड़े मामलों में अभी बहुत सारे लोगों की पहचान बाकी है और उन्हें गिरफ्तार भी किया जाना है. हालांकि उमर खालिद को अभी जेल में ही रहना होगा क्योंकि उन पर यूएपीए लगा है वो अलग केस है ,उसमें अभी बेल नहीं मिली है. 

पिछले साल दिल्ली में हुई हिंसा में आरोपी छात्र नेता उमर खालिद ने जनवरी में सेशन कोर्ट में एक याचिका दाखिल कर जेल में ही कंप्यूटर पर चार्जशीट देखने की इजाजत मांगी थी. उमर खालिद ने अपनी याचिका में कहा है कि उनके खिलाफ दाखिल चार्जशीट को वो अभी तक नहीं देख पाए हैं, ऐसे में जेल के कंप्यूटर से ही उनको चार्जशीट दिखाई जाए.खालिद ने यह भी आरोप लगाया था कि पुलिस ने चार्जशीट को मीडिया में लीक कर दिया है. उसके पास अभी तक चार्जशीट नहीं आई है. इससे न्यायपूर्ण सुनवाई के उनके अधिकार का उल्लंघन हो रहा है.


दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की क्राइम ब्रांच ने दिसंबर में उमर खालिद (Omar Khalid) के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. 100 पन्नों की चार्जशीट में उमर खालिद पर दंगे भड़ाकाने, दंगो की साजिश रचने, देशविरोधी भाषण देने और अन्य आपराधिक धाराओं के तहत आरोप लगाए गए थे.चार्जशीट के मुताबिक, 8 जनवरी को शाहीन बाग में उमर खालिद, खालिद सैफी और ताहिर हुसैन ने मिलकर दिल्ली दंगों की प्लानिंग के लिए मीटिग की थी. इस दौरान ही उमर खालिद ने एंटी CAA प्रदर्शनों में मध्य प्रदेश राजस्थान, बिहार, महाराष्ट्र में हिस्सा लिया और भड़काऊ भाषण दिए, चार्जशीट में कहा गया है कि खालिद ने दंगे भड़काने के लिए लोगो को उकसाया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


चार्जशीट में कहा गया था कि जिन-जिन राज्यों में उमर खालिद गया उसके लिए आने-जाने और रुकने के लिए पैसों का इंतजाम प्रदर्शनकारियों के कर्ता धर्ता इंतजाम करते थे. चार्जशीट में कहा गया है कि दिल्ली सपोर्टर प्रोटेस्ट व्हाट्सएप ग्रुप भी बनाया गया था, जिसके जरिये भी दिल्ली हिंसा की प्लानिंग की गई थी और एंटी CAA प्रदर्शन किए गए थे. पुलिस के मुताबिक, यह ग्रुप राहुल राय ने बनाया था.