दिल्ली में कोरोना के मरीजों की कम तादाद को देखते हुए कोविड बेड की संख्या घटाने का आदेश

कोरोना के इलाज में लगे 45 ऐसे निजी हॉस्पिटल जिनकी कुल बेड क्षमता 100 बेड से ज़्यादा है- उनमें कोविड बेड की मौजूदा कुल क्षमता के 30% को कम करके 15% और कोविड ICU बेड की मौजूदा कुल क्षमता के 40% को घटाकर 25% करने का आदेश है.

दिल्ली में कोरोना के मरीजों की कम तादाद को देखते हुए कोविड बेड की संख्या घटाने का आदेश

Delhi में कोविड के मरीजों की संख्या रोजाना औसतन 500 से भी कम रह गई है.

नई दिल्ली:

दिल्ली में कोरोना के मरीज़ों की घटती संख्या और अस्पतालों में खाली पड़े बेड (Delhi Covid beds) की स्थिति को देखते हुए दिल्ली सरकार ने राजधानी के 115 प्राइवेट अस्पतालों (Delhi Private Hospitals) में कोविड बेड और कोविड ICU बेड की संख्या घटाने का आदेश जारी किया है.


आदेश के मुताबिक, कोरोना के इलाज में लगे 45 ऐसे निजी हॉस्पिटल जिनकी कुल बेड क्षमता 100 बेड से ज़्यादा है-
उनमें कोविड बेड की मौजूदा कुल क्षमता के 30% को कम करके 15% और कोविड ICU बेड की मौजूदा कुल क्षमता के 40% को घटाकर 25% कर दिया जाए, या फिर 15 जनवरी 2021 तक अस्पताल में कोविड बेड और कोविड ICU बेड की occupancy (भरे बेड) का कम से कम दोगुना कर दिया जाए. इनमें से बेड की जो भी संख्या ज़्यादा होगी वो मान्य होगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कोरोना के इलाज में लगे ऐसे 70 प्राइवेट हॉस्पिटल जिनकी कुल बेड क्षमता 100 या 100 से कम है- ऐसे अस्पतालों को अपने यहां कोविड बेड और कोविड ICU बेड रिज़र्व रखने का विकल्प दिया गया है. हालांकि अगर इन अस्पतालों में कोरोना का कोई मरीज़ है तो अस्पताल को अपने यहां कोरोना मरीज़ों द्वारा occupied कोविड बेड और कोविड ICU बेड की संख्या के कम से कम दोगुने बेड रिज़र्व करने होंगे, जब तक की ऐसे मरीज़ अस्पताल से डिस्चार्ज न हो जाएं या फिर अस्पताल में कोरोना का कोई मरीज़ भर्ती न हो.