रसोई गैस की कीमतों में इजाफे के विरोध में सिलेंडर के साथ प्रेस कॉन्‍फ्रेस में पहुंचीं कांग्रेस प्रवक्‍ता

कांग्रेस ने आरोप लगाया, ‘‘यह सरकार डीजल पर उत्पाद शुल्क को आठ गुना और पेट्रोल पर ढाई गुना बढ़ा चुकी है. इस सरकार की कृपा से देश ने पेट्रोल की कीमत के मामले में शतक लगा दिया है.'

रसोई गैस की कीमतों में इजाफे के विरोध में सिलेंडर के साथ प्रेस कॉन्‍फ्रेस में पहुंचीं कांग्रेस प्रवक्‍ता

सुप्रिया श्रीनेता ने कहा, मोदी सरकार के कदम ने गृहणियों और आम आदमी की कमर तोड़ दी है

नई दिल्‍ली:

देश की राजधानी में रसोई गैस सिलेंडर (LPG cylinder) के दामों में 50 रुपये की वृद्धि को लेकर कांग्रेस पार्टी (Congress) ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है. गौरतलब है है बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत 50 रुपये बढ़ने के बाद दिल्‍ली में एक सलेंडर की कीमत 769 रुपये तक पहुंच गई है. कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi government) को निर्दयी करार देते हुए कहा है कि सरकार के इस कदम ने गृहणियों और आम आदमी की कमर तोड़ दी है. पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत (Supriya Shrinate), रसोई गैस के दाम में इजाफे के विरोध में सोमवार को सिलेंडर के साथ संवाददाता सम्मेलन में पहुंचीं और सरकार से बढ़ी हुई कीमतें तत्काल वापस लेने की मांग की. उन्होंने सरकार पर ‘कुप्रबंधन, मुनाफाखोरी करने और आम लोगों की फिक्र नहीं करने' का आरोप लगाया और सवाल किया कि यूपीए सरकार के समय सिलेंडर लेकर सड़क पर बैठने वाली भाजपा की महिला नेता अब चुप क्यों हैं? कांग्रेस प्रवक्ता ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘पिछले 10 दिनों के भीतर इस सरकार ने रसोई गैस के सिलेंडर में 75 रुपये की बढ़ोतरी की है. चार फरवरी को दाम 25 रुपये बढ़ाए गए थे और अब 50 रुपये बढ़ा दिए गए. यही नहीं, दो माह के भीतर सिलेंडर की कीमत में 175 रुपये की वृद्धि की जा चुकी है. आज के समय में दिल्ली में एक सिलेंडर 769 रुपये का बिक रहा है.''


सुप्रिया श्रीनेत ने दावा किया, ‘‘यूपीए सरकार के समय एक सिलेंडर की कीमत 400 रुपये के करीब थी. उस समय कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा थी, लेकिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रित रखा गया था. अब पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें आसमान छू रही हैं. इस सरकार के कुप्रबंधन के कारण देश को महंगाई की मार झेलनी पड़ रही है.''उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘यह सरकार डीजल पर उत्पाद शुल्क को आठ गुना और पेट्रोल पर ढाई गुना बढ़ा चुकी है. इस सरकार की कृपा है कि देश ने पेट्रोल की कीमत के मामले में शतक लगा दिया है और नया कीर्तिमान गढ़ दिया है. ऐसा लगता है कि इस सरकार को आम आदमी की रत्ती भर फिक्र नहीं है.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सुप्रिया ने सवाल किया कि क्या सरकार का काम ‘मुनाफाखोरी' करना है?उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सरकार से मांग है कि बढ़ी हुई कीमतें वापस ली जाएं और उत्पाद शुल्क कम करके लोगों राहत दी जाए.'' कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी और कांग्रेस की सरकार में कीमत 10 रुपये बढ़ने पर सिलेंडर लेकर सड़क पर उतरने वाली महिला नेता से पूछना चाहती हूं कि क्या आज सत्ता का सुख इतना बड़ा हो गया है कि वह बोल नहीं पा रही हैं? आपको पता है कि मैं किसके बारे में बात कर रही हूं.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)