राजस्थान के करौली में सांप्रदायिक हिंसा के बाद कर्फ्यू की अवधि सात अप्रैल मध्य रात्रि तक बढ़ाई गई

करौली के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोर बुटोलिया ने बताया कि हिंसक घटना के मामले में गिरफ्तार 13 आरोपियों को सोमवार को स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां अदालत ने आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया.

राजस्थान के करौली में सांप्रदायिक हिंसा के बाद कर्फ्यू की अवधि सात अप्रैल मध्य रात्रि तक बढ़ाई गई

कर्फ्यू के दौरान दूध, सब्जी, और आवश्यक सामान की खरीददारी के लिये पुलिस की मौजदूगी में प्रतिदिन दो घंटे की छूट दी जायेगी. (Demo Photo)

जयपुर:

राजस्थान के करौली जिले में कर्फ्यू की अवधि सात अप्रैल मध्य रात्रि तक बढ़ा दी गई है और स्थिति नियंत्रण में है. एक अधिकारियों ने यह जानकारी दी. करौली जिलाधिकारी एवं जिला मजिस्ट्रेट राजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा, चूंकि वर्तमान परिस्थितियां कानून व्यवस्था के अनुरूप सामान्य नहीं है, ऐसी स्थिति में कर्फ्यू की अवधि सात अप्रैल की मध्यरात्रि तक बढ़ाई जाती है. 

एक आदेश में शेखावत ने कहा, ‘‘करौली में शोभा यात्रा (बाइक रैली) के दौरान पत्थरबाजी एवं आगजनी की घटना के बाद दो अप्रैल को नगर परिषद क्षेत्र में चार अप्रैल की मध्यरात्रि तक कर्फ्यू लगाया गया था. चूंकि वर्तमान परिस्थितयां कानून व्यवस्था के अनुरूप सामान्य नहीं है. इसलिए कर्फ्यू की अवधि सात अप्रैल मध्य रात्रि तक बढ़ाई जाती है.''

उन्होंने बताया कि सरकारी कार्यालयों, अदालत के कर्मचारियों/अधिकारियों और परीक्षा में बैठने वाले छात्रों को कर्फ्यू में ढील की अनुमति प्रदान की गई है. वहीं कर्फ्यू के दौरान दूध, सब्जी, और आवश्यक सामान की खरीददारी के लिये पुलिस की मौजदूगी में प्रतिदिन दो घंटे की छूट दी जायेगी.

करौली के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक किशोर बुटोलिया ने बताया कि हिंसक घटना के मामले में गिरफ्तार 13 आरोपियों को सोमवार को स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां अदालत ने आरोपियों को दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया. वहीं, सोमवार सुबह आवश्यक सामान की खरीदारी के लिये कर्फ्यू में दो घंटे की ढील दी गयी और इस दौरान कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. पुलिस ने बताया कि स्थिति शांतिपूर्ण और नियंत्रण में है.

करौली के जिलाधिकारी राजेन्द्र शेखावत ने बताया, ‘‘सोमवार सुबह पुलिस की मौजूदगी में आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी के लिये दी गई छूट के दौरान शांति रही और कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय घटना की जानकारी नहीं मिली है.'' उन्होंने बताया कि मोबाइल इंटरनेट सेवाएं सोमवार को भी निलंबित रहीं.

गौरतलब है कि शनिवार को नवसंवत्सर के उपलक्ष्य में मुस्लिम बहुल क्षेत्र से निकाली गयी मोटरसाइकिल रैली पर असामाजिक तत्वों द्वारा पथराव के बाद पैदा हुए सांप्रदायिक तनाव के चलते करौली में कर्फ्यू लगाया गया था. उपद्रव की इन घटनाओं में लगभग 35 लोग घायल हो गए थे.

भरतपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक प्रसन्न कुमार खमेसरा ने बताया कि शनिवार को जुलूस के दौरान हुए पथराव के बाद पुलिस ने तत्परतापूर्वक कार्रवाई करते हुए 46 लोगों को गिरफ्तार किया और सात लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

उन्होंने बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र में दर्ज मामले में 13 आरोपियों को तथा 33 लोगों को कर्फ्यू का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. इस दौरान कुल 21 दोपहिया व चारपहिया वाहन भी पुलिस ने जब्त किये. खमेसरा ने बताया कि कानून एवं व्यवस्था को बनाये रखने के लिए पुलिस चौकसी बरत रही है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)