केरल में कोरोना का कहर : दो स्कूलों के 10वीं क्लास के करीब 200 स्टूडेंट्स निकले COVID पॉजिटिव

जिला चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर के शकीना ने एनडीटीवी को बताया, "एक स्टूडेंट के संक्रमित पाए जाने के बाद, कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग और निगरानी के तहत अन्य लोगों का टेस्ट किया गया था."

केरल में कोरोना का कहर : दो स्कूलों के 10वीं क्लास के करीब 200 स्टूडेंट्स निकले COVID पॉजिटिव

केरल में दो स्कूलों के स्टूडेंट्स के अलावा स्टाफ कर्मचारी भी निकले कोरोना संक्रमित (प्रतीकात्मक तस्वीर)

तिरुवनंतपुरम:

कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के बीच धीरे-धीरे स्कूल खोले जा रहे हैं. स्कूल खुलने के कुछ दिनों बाद केरल के मलप्पुरम जिले में दो स्कूलों के 192 स्टूडेंट्स कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. ये बच्चे दसवीं क्लास के हैं. कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के बाद बच्चों के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला. अधिकारियों ने कहा कि टीचर समेत 72 स्टाफकर्मियों को भी वायरस से संक्रमित पाया गया है. केरल देश में कोरोना संकट से सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में हैं.

जिला चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर के शकीना ने एनडीटीवी को बताया, "एक स्टूडेंट के संक्रमित पाए जाने के बाद, कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग और निगरानी के रूप में अन्य का टेस्ट किया गया था. इसके बाद, इसी क्षेत्र के दूसरे स्कूल के स्टूडेंट्स और कर्मचारियों का भी परीक्षण किया गया. इसे वायरस के प्रसार को रोकने के लिए समयबद्ध हस्तक्षेत्र के रूप में देखा जाना चाहिए."

केरल में कोरोनावायरस के नए मामलों की अधिक संख्या दर्ज होने के बीच यह मामला सामने आया है. कोरोना संकट के शुरुआती दिनों में केरल महामारी को संभालने के मामले में रोल मॉडल बनकर उभरा था. भारत का पहला कोविड-19 केस केरल में जनवरी 2020 में दर्ज हुआ था. 

आज जारी आंकड़ों के मुताबिक, केरल में पिछले 24 घंटे यानी एक दिन में कोरोनावायरस के 6,075 नए मामले दर्ज किए गए हैं. इसी के साथ राज्य में कुल COVID-19 केस की संख्या 9,68,438 हो गई है.

हाल ही में मलप्पुरम के दो स्कूलों में 638 बच्चों का कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें एक स्कूल के 149 स्टूडेंट और दूसरे के 43 स्टूडेंट्स संक्रमित पाए गए हैं. इसी प्रकार, टीचर समेत स्टाफ की जांच में एक स्कूल के 39 और दूसरे के 33 लोग संक्रमित निकले हैं. 

जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों के साथ आज बैठक करके आगे के रणनीति पर फैसला लिया है. 


केरल में पिछले महीने से 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं ने स्कूल आना शुरू किया है, खासकर प्रेक्टिकल सेशन और विषय से संबंधित दिक्कतों को दूर करने के लिए. स्कूलों के लिए जारी कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत स्टूडेंट्स को सीमित संख्या और कई शिफ्ट में बांटा गया है.

वीडियो: कोरोना को भारत से भगाने के लिए दो बातें जरूरी - NDTV से बोले डॉ रणदीप गुलेरिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com