कपिल सिब्बल के घर जिसने भी की गुंडागर्दी, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे पार्टी : आनंद शर्मा

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने बुधवार को कहा था, "कांग्रेस में अब कोई निर्वाचित अध्यक्ष नहीं है. हम नहीं जानते कि कौन निर्णय ले रहा है." सिब्बल ने कहा, "हम जी-23 हैं, निश्चित रूप से जी हुज़ूर-23 नहीं. हम मुद्दों को उठाते रहेंगे." कपिल सिब्बल भी जी-23 का हिस्सा हैं.

नई दिल्ली:

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा (Anand Sharma) ने पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) के घर पर हंगामा, तोड़फोड़ और गुंडागर्दी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग पार्टी अध्यक्ष से की है. उन्होंने ताबड़तोड़ कई ट्वीट कर इस घटना की निंदा की और कहा कि इस घटना की खबर से आहत महसूस कर रहा हूं.

उन्होंने लिखा है, "कपिल सिब्बल के घर पर हमले और गुंडागर्दी की खबर सुनकर स्तब्ध और निराश हूं. यह निंदनीय कार्रवाई पार्टी को बदनाम करती है और इसकी कड़ी निंदा की जानी चाहिए."

दूसरे ट्वीट में शर्मा ने लिखा है, "कांग्रेस का अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कायम रखने का इतिहास रहा है. राय और धारणा के मतभेद लोकतंत्र के अभिन्न अंग हैं. असहिष्णुता और हिंसा कांग्रेस के मूल्यों और संस्कृति से अलग है."  इससे आगे भी उन्होंने लिखा, "जिम्मेदार लोगों की पहचान की जानी चाहिए और उन्हें अनुशासित किया जाना चाहिए. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से संज्ञान लेने और कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह है."

बता दें कि कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की ओर से पार्टी नेतृत्व पर सवाल खड़ा किये जाने के बाद पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने बुधवार को सिब्बल के आवास के बाहर प्रदर्शन किया और उनके खिलाफ नारेबाजी की. दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि सिब्बल के बयान से कार्यकर्ता आहत हुए और इस वजह से उन्होंने विरोध प्रदर्शन किया. विरोध कर रहे लोगों ने कपिल सिब्ब्ल के घर पर टमाटर फेंके उनकी कार क्षतिग्रस्त कर दी.

गांधी परिवार की आलोचना के बाद कपिल सिब्बल के घर पर विरोध प्रदर्शन, कार क्षतिग्रस्त

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पूर्व केंद्रीय मंत्री ने बुधवार को कहा था, "कांग्रेस में अब कोई निर्वाचित अध्यक्ष नहीं है. हम नहीं जानते कि कौन निर्णय ले रहा है." सिब्बल ने कहा, "हम जी-23 हैं, निश्चित रूप से जी हुज़ूर-23 नहीं. हम मुद्दों को उठाते रहेंगे." कपिल सिब्बल भी जी-23 का हिस्सा हैं. इस समूह के 23 नेताओं ने पिछले साल सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में व्यापक बदलाव की मांग की थी.