देखें VIDEO : चेन्नई में भारी बारिश के बाद दरिया बना हाईवे, 3000 लोग राहत शिविर भेजे गए

चेंगलपट्टू के कई इलाकों में पानी भर गया है. निचले इलाकों से लोगों को बचाने के लिए नावें तैनात की गई हैं. लगभग 3,000 लोगों को रिलीफ सेंटर में भेजा गया है.

चेन्नई:

तमिलनाडु ( Tamil Nadu) में भारी बारिश ( Heavy rain)  से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. बारिश से चेंगलपट्टू जिले ( Chengalpattu district) में शनिवार सुबह चेन्नई से त्रिची जोड़नेवाली मुख्य सड़क पर यातायात एक ओर से बाधित हो गया. जिले में शुक्रवार रात 11 सेमी बारिश हुई. वहीं चेन्नई से 60 किलोमीटर दूर चेंगलपट्टू के पास मुख्य जीएसटी रोड पर भी यातायात बाधित हो गया. हालांकि, कुछ घंटों के बाद बारिश थमने के बाद इसे बहाल किया जा सका. एक ड्राइवर ने बताया कि हाईवे पर पानी आ जाने से डरावनी स्थिति पैदा हो गई थी. 

वहां के एक सोशल वर्कर रवि ने बताया कि झीलें ओवरफ्लो हो रही हैं, और गांवों में पानी भर गया है. पांच सौ परिवार प्रभावित है. उन्होंने कहा कि हम इस समस्या को लेकर यहां कलेक्टर के पास गए. उन्होंने मदद का भरोसा जताया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने एनडीटीवी को बताया कि इसके स्थायी समाधान को लेकर कार्य किया जा रहा है. यह योजना के अंतिम चरण में है.  चेंगलपट्टू के कई इलाकों में पानी भर गया है. निचले इलाकों से लोगों को बचाने के लिए नावें तैनात की गई हैं. लगभग 3,000 लोगों को रिलीफ सेंटर में भेजा गया है. जिन इलाकों में पानी भर गया है, वहां के लोग विषैले जीव-जंतुओं ( सांप) के घरों में घुस आने को लेकर चिंतित हैं. 

मौसम का बदला मिजाज : चेन्नई में तेज बारिश के आसार, 45 KM प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है हवा

वहीं वहां के एक स्थानीय नागरिक ने बताया कि हमारे घर में सेप्टिक टैंक का पानी भर गया है. हमारे बच्चे स्कूल नहीं जा सकते. वहीं एक अन्य निवासी शांति ने कहा कि आधी रात को घर में पानी भर जाने के बाद इरुला आदिवासी समुदाय के 85 परिवारों को एक शेल्टर में ले जाया गया. 


'हम भी टैक्स देते हैं' : चेन्नई में भारी बारिश से कई इलाके झील में तब्दील, गुस्साए लोग

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


चेंगलपट्टू के कलेक्टर एआर राहुल नाध ने एनडीटीवी को बताया, संयोग से सुबह बारिश रुक गई और इससे हमें बहुत मदद मिली. वहीं मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने ट्विटर पर पोस्ट कर बचाव व मदद में जुटे अधिकारियों व कर्मियों की तारीफ की है. उन्होंने कहा है कि बिना नींद व आराम के भारी बारिश के बीच हमारे विभाग के लोगों ने काम किया है और नुकसान को कम किया है. मैं जिनता भी इनका धन्यवाद करूं, वह कम है. इन्होंने तेजी से मरम्मत की है और स्थिति को कंट्रोल में रखा है.