यूपी में BSP के भाजपा को समर्थन के फैसले ने बिहार में AIMIM की बढ़ाई मुश्किल

इस गठबंधन में सर्वाधिक 108 सीटें उपेन्द्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) मायावती की बहुजन समाज पार्टी (BSP) के 80  और एआईएमआईएम मतलब ओवैसी के पार्टी के 24 उम्मीदवार हैं.

यूपी में BSP के भाजपा को समर्थन के फैसले ने बिहार में AIMIM की बढ़ाई मुश्किल

पटना:

बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती ने जब से उतर प्रदेश के राज्य सभा चुनावों (UP Rajya Sabha Election) में समाजवादी पार्टी के ख़िलाफ़ भाजपा को समर्थन करने का फ़ैसला किया हैं, तब से बिहार में तीसरे मोर्चा के तौर पर उपेन्द्र कुशवाहा के नेतृत्व में लड़ रहे सेक्युलर डेमक्राटिक फ़्रंट में शामिल ओवैसी की AIMIM के उम्मीदवार परेशान हैं .

हालांकि इस गठबंधन में सर्वाधिक 108 सीटें उपेन्द्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) मायावती की बहुजन समाज पार्टी (BSP) के 80  और एआईएमआईएम मतलब ओवैसी के पार्टी के 24 उम्मीदवार हैं.

यह भी पढ़ें- नीतीश कुमार के वोट बैंक में सेंधमारी करने वाले दो नेता हो सकते हैं किंगमेकर,10% वोटों पर है पकड़

इन 24 में से अधिकांश उम्मीदवार सीमांचल के तीन ज़िलों की विधानसभा क्षेत्र से मैदान में हैं. लेकिन उनकी मुश्किल हैं कि मायावती के भाजपा के समर्थन में खुल कर आने के कारण उनसे लोग सवाल पूछ रहे हैं.

इस बीच कांग्रेस पार्टी के बिहार में चुनाव प्रचार की कमान संभाल रहे रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ओवैसी की पार्टी पर सवाल उठाते हुए उन्हें एक बार फिर बीजेपी की टीम बी कहा.

यह भी पढ़ें- हिंदुत्व के मुद्दे पर बोले असदुद्दीन ओवैसी- हमारे संविधान के समानता और न्याय के मूल्यों के खिलाफ

कांग्रेस नेता ने कहा, "अब ओवैसी जी जो हर दिन बिहार में अपने प्रचार में नीतीश कुमार और सुशील मोदी के बजाय तेजस्वी यादव और राहुल गांधी को निशाने पर रखते हैं और उसके बाद बीएसपी के इस फ़ैसले के बाद ये साबित हो गया कि वो बीजेपी की बी टीम के तौर पर चुनाव मैदान में हैं."


AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- झूठा आरोप लगाने वाले शर्म करें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com