बिहार के पूर्वी चंपारण में बाढ़ का तांडव, नदी बने घर के आंगन में नहाते दिखे लोग, खेत-खलियान और रास्ते हुए पानी-पानी, देखें VIDEO

बाढ़ से जुड़े वीडियो में दिख रहा है कि पानी गांवों में आ गया है. कुछ लोग तो बाढ़ के पानी में नहाते भी दिख रहे हैं. एक वीडियो पानी का हैंडपंप तक डूब गया है.खेत-खलियान सब पानी पानी हो गए हैं. रास्ते भी गुम हो गए हैं.

बिहार के पूर्वी चंपारण में बाढ़ का तांडव, नदी बने घर के आंगन में नहाते दिखे लोग, खेत-खलियान और रास्ते हुए पानी-पानी, देखें VIDEO

बिहार के पूर्वी चंपारण में आई बाढ़ से हालात खराब

पटना:

बिहार के पूर्वी चम्पारण  में पिछले एक सप्ताह से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश ने बाढ़ की हालत गंभीर बना दिया है. जिले के पताही,बंजरिया और सुगौली प्रखंड के गांवों में चौथी बार बाढ़ का पानी घुसने लगा है. लगातार हो रही बारिश से सिकरहना,लालबकेया और बागमती नदी एक बार फिर उफान पर आ गई है. पताही प्रखंड के देवापुर में बागमती और लालबकेया नदी ने चौथी बार बाढ़ लाया है, जिस कारण पताही प्रखंड के आधा दर्जन गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. दोनों नदियों के बाढ़ का पानी गांव से समीप टूटान से होकर पताही-शिवहर सड़क पर चार से पांच फीट पानी तेज गति से बह रहा है. बाढ़ का पानी पताही प्रखंड के देवापुर, जिहुली, खोरीपाकर, पदुमकेर, गोनाही, अलीशेरपुर, जरदहा, रंगपुर, गुहरौल गांवों में घुसा है, जिस कारण एक बार फिर ग्रामीणों को बाढ़ की मार झेलना पड़ रही है. नेपाल के तराई क्षेत्रों में पिछले एक सप्ताह से लगातार हो रही बारिश ने नदियों के जलस्तर में वृद्धि ला दी है, जिससे आधा दर्जन पंचायतों में बाढ़ का पानी फैल गया है.

बाढ़ से जुड़े वीडियो में दिख रहा है कि पानी गांवों में आ गया है. कुछ लोग तो बाढ़ के पानी में नहाते भी दिख रहे हैं. एक वीडियो पानी का हैंडपंप तक डूब गया है.खेत-खलियान सब पानी पानी हो गए हैं. रास्ते भी गुम हो गए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


साथ ही बाढ़ के पानी से जिहुली पंचायत सहित आधा दर्जन पंचायतों के धान का फसल को डुबो दिया है. बाढ़ के पानी की रफ्तार को देखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भयभीत हैं. ग्रामीणों ने बताया है कि जिस तरह से तेजी से पानी बढ़ रहा है. इसी तरह पानी अगर बढ़ते रहा तो देर रात्रि तक आधा दर्जन पंचायतों के घरों में पानी प्रवेश कर जाएगा. इस कारण सैकड़ों परिवारों में दहशत का माहौल बना हुआ है. पानी की तेज रफ्तार को देखते हुए ग्रामीण ऊंचे स्थानों पर अभी से ही शरण ले रहे है. जिहुली पंचायत से निकलने वाली सभी सड़कों का संपर्क भंग हो गया है और लोगों का आवागमन बाधित हो रहा है.