प्याज के बढ़ते दामों पर तेजस्वी यादव का केंद्र और नीतीश कुमार पर हमला- 'इनके मुंह में दही क्यों जमी हुई है?'

तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्र की मोदी सरकार को मंहगाई के मुद्दे पर घेरते हुए सवाल पूछा कि वह 'बढ़ती महंगाई पर चुप क्यों हैं, उनके मुंह में दही क्यों जमी हुई है?' 

प्याज के बढ़ते दामों पर तेजस्वी यादव का केंद्र और नीतीश कुमार पर हमला- 'इनके मुंह में दही क्यों जमी हुई है?'

विरोधस्वरूप मीडिया के सामने प्याज की माला लेकर आए तेजस्वी यादव.

खास बातें

  • प्याज के दामों पर हमलावर हुए तेजस्वी यादव
  • प्याज की माला लेकर पहुंचे मीडिया के सामने
  • महंगाई को लेकर केंद्र और नीतीश कुमार को घेरा
नई दिल्ली:

बिहार विधानसभा चुनावों (Bihar Assembly Elections 2020) में जेडीयू-बीजेपी गठबंधन को चुनौती देने में राष्ट्रीय जनता दल का नेतृत्व कर रहे तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) इस बार चुनावों में लगातार महंगाई, बेरोजगारी और कमजोर अर्थव्यवस्था का मुद्दा उठा रहे हैं. पूरे देश में प्याज के दाम 100 रुपए प्रति किलो से ऊपर चल रहे हैं. कई शहरों में प्याज के दाम 140 से 150 रुपए प्रति किलो के दाम तक पहुंच गए हैं. इसे लेकर सोमवार को तेजस्वी यादव केंद्र सरकार पर हमला बोला. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर तंज भी कसा.

प्याज के आसमान छूते दामों का विरोध कर रहे तेजस्वी यादव मीडिया के सामने विरोधस्वरूप प्याज की माला लेकर आए थे. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, उन्होने कहा कि 'महंगाई सबसे बड़ा मुद्दा है. बीजेपी के लोग प्याज की माला पहनते थे. अब यह 100 रुपए किलोग्राम के पास पहुंच रहा है. बेरोजगारी है, भुखमरी बढ़ रही है छोटे व्यापारी बरबाद हो रहे हैं, गरीबी बढ़ रही है, जीडीपी गिर रही है. हम आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं.'

तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्र की मोदी सरकार को मंहगाई के मुद्दे पर घेरते हुए सवाल पूछा कि वह 'बढ़ती महंगाई पर चुप क्यों हैं, उनके मुंह में दही क्यों जमी हुई है?' नीतीश कुमार की टिप्पणियों पर जब उनसे सवाल पूछा गया तो तेजस्वी यादव ने कहा कि उन्हें लगता है कि उन्हें 'नीतीश जी का आशीर्वाद मिल रहा है.'

यह भी पढ़ें: 'पकाऊ, थकाऊ, उबाऊ और घिसी-पिटी बातों से पक चुकी है जनता', तेजस्वी का नीतीश पर तंज

बता दें कि पूरे देश में  प्याज के दामों में अचानक तेज उछाल आया है. दिल्ली में प्याज 80 से 100 रुपए प्रति किलो तक बिक रहा है. वहीं, चेन्नई में 105 से 150 रुपए प्रति किलो के हिसाब से प्याज मिल रहा है. दिल्ली की बड़ी थोक मंडियों में ही प्याज़ 60 रुपए प्रति किलो बिक रहा है. प्याज व्यापारियों का कहना है कि बारिश की वजह से महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश में प्याज की फसल खराब हुई है. इस वजह से मंडियों तक प्याज नहीं पहुंच पा रहा है और कीमतों में उछाल है. व्यापारियों का अनुमान है कि अभी एक महीने तक हालात ऐसे ही रहेंगे.

हालांकि, उपभोक्ता मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार देख रहे केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा था कि उपभोक्ताओं को किफायती मूल्य पर प्याज उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं. इनमें प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध से लेकर आयात के नियमों में ढील, और बफर स्टॉक से प्याज की आपूर्ति जैसे कदम शामिल हैं.

Video: मंहगाई पर तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को घेरा, पूछा- इस पर चुप क्यों हैं CM


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com