जब JDU से अलग जाने की बात कही, तो 'चुप्पी साधे' रहे अमित शाह : NDTV से बोले चिराग पासवान

Bihar Assembly Election 2020: चिराग ने कहा कि उनके पिता ने स्पष्ट शब्दों में कहा था कि अगर फिर से पांच साल के लिए नीतीश सीएम बनते हैं तो यह राज्य के लिए एक बहुत बड़ी आपदा होगी.

खास बातें

  • चिराग बोले- अकेले चुनाव लड़ने का सपना पिता रामविलास पासवान का
  • बतौर चिराग, रामविलास पासवान नहीं चाहते थे फिर से सीएम बनें नीतीश कुमार
  • कई बीजेपी नेताओं को थी इस बात की जानकारी, बोले चिराग पासवान
पटना:

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने कहा है कि बिहार विधान सभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में अकेले चुनाव लड़ने के लिए उनके पिता और दिवंगत केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने प्रेरित किया था. उन्होंने कहा कि यह उनके पिता का सपना है. चिराग ने कहा कि वो अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए हरसंभव कोशिश करेंगे. एनडीटीवी से खास बातचीत में चिराग ने कहा कि उनके पिता ने उन्हें कहा था कि जब वो (रामविलास) 2005 में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला कर सकते हैं तो तुम (चिराग) क्यों नहीं? तुम तो अभी युवा हो.

चिराग ने बताया कि अस्पताल जाने से पहले यानी दो-तीन महीने पहले ही यह तय हो चुका था कि लोजपा बिहार में अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ेगी. उन्होंने कहा कि इसके पीछे पार्टी का जनाधार बढ़ाना, पार्टी का प्रसार करना तो मकसद है ही. इससे ज्यादा जरूरी है नीतीश कुमार को सत्ता से बेदखल करना. लोजपा अध्यक्ष ने कहा कि उनके पिता भी यही चाहते थे कि नीतीश कुमार को सत्ता से बेदखल किया जाय.

शरद यादव की बेटी सुभाषिनी ने थामा कांग्रेस का 'हाथ', बिहार विधानसभा चुनाव में मिल सकता है टिकट

उन्होंने कहा कि पिछले 15 वर्षों में नीतीश का शासनकाल बिहार का विकास कर पाने में नाकाम रहा है. चिराग ने कहा कि उनके पिता ने स्पष्ट शब्दों में कहा था कि अगर फिर से पांच साल के लिए नीतीश सीएम बनते हैं तो यह राज्य के लिए एक बहुत बड़ी आपदा होगी. उन्होंने कहा कि इस बात की जानकारी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन और बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव को भी थी क्योंकि पिछले दो-तीन महीनों में उनसे रामविलास पासवान जी की मुलाकात हुई थी और इन मुद्दों पर विस्तृत बातचीत हुई थी.

इन विधानसभा चुनावों में बिहार को क्या दे सकती है BJP?


बता दें कि कई भाजपा नेता यह कह चुके हैं कि यह चिराग पासवान का फैसला है और अगर रामविलास पासवान फैसला लेने की स्थिति में होते तो लोजपा जेडीयू के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ रही होती. मौजूदा चुनावों में लोजपा ने जेडीयू के खिलाफ सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है. कई सीटों पर पार्टी ने बागी भाजपा नेताओं को टिकट दिया है.

वीडियो: "My Father Instigated Me To Contest Alone": Chirag Paswan To NDTV

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com