ISI ने मुल्ला उमर को करोड़ों रुपये देकर ईरान से कुलभूषण जाधव को कराया था अगवा: बलूच नेता

सक्रिय बलूच कार्यकर्ता मामा कदीर का दावा है कि पाकिस्तान में कारावास की यातना झेल रहे भारतीय कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की खुफिया संस्था आईएसआई के इशारे पर ईरान के चाबहार से अगवा किया था.

ISI ने मुल्ला उमर को करोड़ों रुपये देकर ईरान से कुलभूषण जाधव को कराया था अगवा: बलूच नेता

बलूच नेता ने किया खुलासा, आईएसआई ने मुल्ला उमर को करोड़ों रुपये देकर ईरान से कुलभूषण जाधव को कराया था अगवा (फाइल फोटो)

खास बातें

  • जाधव को ईरान के चाबहार से अगवा किया था
  • मुल्ला उमर ईरानी बलूचिस्तान में कुख्यात आईएसआई एजेंट के रूप में मशहूर है
  • बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा से जाधव को इस्मालाबाद लाया गया
नई दिल्ली :

सक्रिय बलूच कार्यकर्ता मामा कदीर का दावा है कि पाकिस्तान में कारावास की यातना झेल रहे भारतीय कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की खुफिया संस्था आईएसआई के इशारे पर ईरान के चाबहार से अगवा किया था. एक निजी न्‍यूज चैनल को दिए इंटरव्‍यू में कदीर ने दावा कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) के लिए काम करने वाले मुल्ला उमर बलूच ईरानी ने जाधव को ईरान के चाबहार से अगवा किया था.

अमेरिका में गूंजा 'चप्‍पल चोर पाकिस्‍तान' का नारा, जानिए क्‍या है पूरा मामला

कदीर बलूच को वॉइस फॉर मिसिंग बलूच्स नामक संगठन से इसकी जानकारी मिली. कदीर इस संगठन के उपाध्यक्ष हैं. कदीर ने कहा, "हमारे संयोजक वहां मौजूद थे. जाधव का अपहरण करने के लिए आईएसआई की ओर से मुल्ला उमर को करोड़ों रुपये दिए गए थे."

कदीर ने कहा कि मुल्ला उमर ईरानी बलूचिस्तान में कुख्यात आईएसआई एजेंट के रूप में मशहूर है और उसे पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ वहां आवाज उठाने वालों को अगवा करने के लिए जाना जाता है.

कुलभूषण जाधव के नए वीडियो पर बोला भारत, पाकिस्तान ने जबरन दिलवाया यह बयान

उन्होंने बताया कि जाधव के दोनों हाथ बांध दिए गए थे. उनकी आंखों पर पट्टी बांध दी गई थी और उन्हें डबल डोर की एक कार में बैठाकर ले जाया गया था. उन्होंने कहा, जाधव को पहले चाहबहार से ईरान और बलूचिस्तान सीमा स्थित शहर मशकेल ले जाया गया, जहां से उनको बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा लाया गया और वहां से इस्मालाबाद.

कदीर ने कहा, "हम जानते थे कि कुलभूषण जाधव ईरान में एक व्यवसायी थे. आईएसआई ने घोषणा की थी कि उन्होंने बलूचिस्तान में जाधव को पकड़ा है. दरअसल, जाधव कभी अलूचिस्तान आए ही नहीं थे."

VIDEO: पाकिस्तान के प्रोपेगेंडा का नया वीडियो, जाधव से बुलवाए झूठ

जाधव को पाकिस्तान की एक अदालत ने जासूसी और आतंकवाद के आरोप में मौत की सजा सुनाई हुई है. भारत ने यह मामला अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में उठाया जहां फिलहाल जाधव की मौत की सजा पर रोक लगाने का आदेश दिया गया. (इनपुट आईएएनएस से)


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com