इंदौर में बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने नाथूराम गोडसे जिंदाबाद के नारे लगाए

संत कालीचरण ने रायपुर समागम में महात्मा गांधी को लेकर अभद्र टिप्पणी की थी. इसके बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रकरण दर्ज कर संत कालीचरण की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे.

इंदौर में बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने नाथूराम गोडसे जिंदाबाद के नारे लगाए

कालीचरण को महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी के मामले में गिरफ्तार किया गया

इंदौर:

संत कालीचरण (Sant kalicharan) पर राजद्रोह का केस दर्ज होने और जेल रिहाई की मांग को लेकर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रदर्शन किया. बजरंग दल के कार्यकर्ता आयुक्त कार्यालय पहुंचे और राष्ट्रपति और गृह मंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा. इंदौर के रीगल तिराहे स्थित गांधी प्रतिमा पर बजरंग दल सेना द्वारा संत कालीचरण की गिरफ्तारी को गलत ठहराते हुए विरोध प्रदर्शन किया. साथ ही छत्तीसगढ़ के  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई. हिंदू संगठन लगातार संत कालीचरण के पक्ष में लामबंद हो रहे हैं.

इसी कड़ी में इंदौर के बजरंग दल और हिंदूवादी नेताओं ने इंदौर के रीगल तिराहे पर गांधी प्रतिमा के सामने बैठ कर हनुमान चालीसा का पाठ कर छत्तीसगढ़ सरकार को सद्बुद्धि देने की प्रार्थना की. एक तरफ तो गांधी प्रतिमा के सामने बजरंग दल के कार्यकर्ता बैठ गए तो दूसरी तरफ पुलिस को दिए ज्ञापन के दौरान नाथूराम गोडसे जिंदाबाद के नारे लगाए गए.

बजरंग दल नेता संदीप कुशवाहा ने कहा कि संत कालीचरण पर बेवजह केस दर्ज किया गया है. उन्होंने कुछ भी गलत नहीं कहा. बजरंग दल ने उनकी रिहाई की मांग को लेकर राष्ट्रपति और एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के नाम कमिश्नर कार्यालय पर  ज्ञापन दिया और संत कालीचरण की जल्द रिहाई की मांग की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


संत कालीचरण द्वारा रायपुर समागम में महात्मा गांधी को लेकर अभद्र टिप्पणी की थी. इसके बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रकरण दर्ज कर संत कालीचरण की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे.