AIADMK ने चुनाव के ठीक पहले आरक्षण का ऐलान कर पीएमके से गठबंधन पर लगाई मुहर

Tamil Nadu Assembly Election 2021: AIADMK ने वानियर समुदाय के लिए राज्य के शैक्षणिक और सरकारी संस्थानों में 10.5 फीसदी आरक्षण का ऐलान किया. लेकिन इस ऐलान के साथ ही उसने पर्दे के पीछे वानियर समुदाय के साथ गठबंधन भी पक्का कर लिया.

AIADMK ने चुनाव के ठीक पहले आरक्षण का ऐलान कर पीएमके से गठबंधन पर लगाई मुहर

Tamil Nadu : तमिलनाडु में 6 अप्रैल को एक चरण में वोट डाले जाएंगे

चेन्नई:

Tamil Nadu Assembly Election : तमिलनाडु की सत्तारूढ़ पार्टी एआईएडीएमके (AIADMK) ने चुनाव की घोषणा के ठीक पहले वानियर समुदाय के लिए राज्य के शैक्षणिक और सरकारी संस्थानों में 10.5 फीसदी आरक्षण का ऐलान किया. लेकिन इस ऐलान के साथ ही उसने पर्दे के पीछे वानियर समुदाय के साथ गठबंधन भी पक्का कर लिया. पीएमके के साथ सीटों पर समझौते को लेकर बातचीत चल रही है. 

तमिलनाडु विधानसभा ने वानियार समुदाय को 10.5 फीसदी आरक्षण के इस प्रस्ताव पर मुहर लगाई. इसके साथ अन्ना द्रविड़ मुन्नेड़ कझगम और पत्ताली मक्कल काची (पीएमके) के बीच आगामी विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन भी तय हो गया. पीएमके का वानियर समुदाय के बीच अच्छी खासी पकड़ है.

चर्चा है कि एस रामदॉस की अगुवाई वाली पीएमके, जिसकी कमान अब जीके मणि के पास है, वह एआईएडीएमके से 25 सीटें मांग रही है. लेकिन तमिलनाडु विधानसभा में अभी उसका कोई प्रतिनिधित्व नहीं है. पीएमके लंबे समय से उत्तर तमिलनाडु से ताल्लुक रखने वाले कारोबारी वानियार समुदाय के हितों को आगे बढ़ाने के लिए संघर्षरत रही है. 2011 के विधानसभा चुनाव में पीएमके ने 3 सीटें जीती थीं. लेकिन 2016 में वह ये तीनों सीट भी हार गई, जबकि पार्टी 30 सीटों पर चुनाव लड़ी थी. पीएमके आखिरी बार सत्ताधारी दल के साथ 2006 से 2011 के बीच थी, जब उसका डीएमके के साथ गठबंधन था.

AIADMK बहरहाल बीजेपी के साथ भी गठबंधन को लेकर बातचीत कर रही है, BJP नेता किशन रेड्डी, वीके सिंह और तमिलनाडु पार्टी अध्यक्ष एल मुरुगन ने शनिवार सुबह एआईएडीएमके नेताओं से मुलाकात की. एआईएडीएमके की ओर से वार्ता में मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामी (Chief Minister Edappady K Palaniswami ) और डिप्टी सीएम ओ पन्नीरसेल्वम मौजूद थे. सूत्रों का कहना है कि एआईएडीएमके के साथ सीटों के बंटवारे पर आखिरी मुहर लगाने के लिए गृह मंत्री अमित शाह ( Home Minister Amit Shah) शनिवार रात 10 बजे तक चेन्नई पहुंचने वाले हैं.

बीजेपी नेता एम चक्रवर्ती का कहना है कि हमारी उम्मीद 60 विधानसभा सीटों की है, जिनमें हम जीत दर्ज कर सकते हैं. लेकिन एआईएडीएमके की अपनी योजना होगी. दोनों दलों द्वारा जिस पर सहमति बनेगी, उसका ऐलान किया जाएगा. बीजेपी नेता एम चक्रवर्ती का कहना है कि हमारी उम्मीद 60 विधानसभा सीटों की है, जिनमें हम जीत दर्ज कर सकते हैं. लेकिन एआईएडीएमके की अपनी योजना होगी. दोनों दलों द्वारा जिस पर सहमति बनेगी, उसका ऐलान किया जाएगा. सूत्रों का कहना है कि एआईएडीएमके हालांकि आगामी चुनाव में बीजेपी को करीब 20 सीटें ही देने की पक्षधर है. 

उधर, विपक्षी दल डीएमके ने टीआर बालू के नेतृत्व में 7 सदस्यीय समिति बनाई है, जो गठबंधन दलों से सीटों के बंटवारे के मुद्दे पर बात कर रही है. सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस से सीटों के बंटवारे को लेकर 1-2 दिन में दूसरे दौर की बातचीत होने की संभावना है. कांग्रेस की ओर से वार्ता की अगुवाई ओमन चांडी, दिनेश गुंडुराव और रणदीप सुरजेवाला के साथ राज्य के कांग्रेस नेता कर रहे हैं. 

गठबंधनों को लेकर कवायद तेज होने के साथ दलबदल भी तेज हो गया है. एआईएडीएमके विधायक पला करुपिया ने कमल हासन के नेतृत्व वाली पार्टी मक्कल निधि मयम (MNM) को ज्वाइन कर लिया है. और वह चुनाव भी लड़ेंगे. हासन पार्टी की पहली लिस्ट का ऐलान 7 मार्च को करेंगे. पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में 4 फीसदी वोट हासिल किया था, कुछ शहरी इलाकों में तो उसका वोट 10 फीसदी तक था.


गठबंधनों को लेकर कवायद तेज होने के साथ दलबदल भी तेज हो गया है. एआईएडीएमके विधायक पला करुपिया ने कमल हासन के नेतृत्व वाली पार्टी मक्कल निधि मयम को ज्वाइन कर लिया है. और वह चुनाव भी लड़ेंगे. हासन पार्टी की पहली लिस्ट का ऐलान 7 मार्च को करेंगे. पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में 4 फीसदी वोट हासिल किया था, कुछ शहरी इलाकों में तो उसका वोट 10 फीसदी तक था. अभिनय से राजनीति में आए आर शरत कुमार की पार्टी AISMK ने एआईएडीएमके से बात बनती न देख अब एमएनएम के साथ सहयोग के संकेत दिए हैं. शरत कुमार ने हासन से आज मुलाकात की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शरत कुमार और उनकी पत्नी राधिका ने पूर्व मुख्यमंत्री जे जयलिलता की 73वीं जयंती पर वीके शशिकला से भी मुलाकात की. जयललिता की बेहद करीबी रहीं शशिकला हाल में जेल से रिहा हुई हैं और तमिलनाडु की राजनीति में उन्होंने सक्रिय भूमिका के संकेत दिए हैं.