नासिक में ऑक्सीजन की किल्लत, मरीजों के परिजनों को बताया गया- कुछ ही घंटों के लिए बचा स्टॉक

नासिक के एक निजी अस्पताल में वेंटिलेटर के मरीजों तक को बोल दिया गया है कि अस्पताल के पास बस आज शाम तक के लिए ही ऑक्सीजन का स्टॉक है और मरीजों को कहीं और ले जाना चाहिए, लेकिन कहीं और भी ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं है.

नासिक:

महाराष्ट्र के नासिक जिले में कोरोनावायरस से स्थिति खराब है. यहां अस्पताल में ऑक्सीजन सिलिंडर ही खत्म हो रहे हैं. हालात ऐसे हैं कि वेंटिलेटर पर मरीजों के लिए भी ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं हो पा रही है और बस अगले कुछ घंटों के लिए ऑक्सीजन बचा हुआ है. निजी अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों को बुलाकर दूसरे जगह शिफ्ट करने की मांग अस्पताल प्रशासन की ओर से की जा रही है, लेकिन कहीं भी ऑक्सीजन नहीं मिल रहा है.

नासिक के सुविचार अस्पताल में 6 मरीज वेंटिलेटर पर हैं जिनके लिए केवल आज शाम तक का ऑक्सीजन स्टॉक मौजूद है, परिवारवालों को नहीं पता कि क्या किया जाना चाहिए.  अस्पताल परिजनों से मरीज को कहीं और ले जाने को कह रहे हैं. डॉक्टरों का कहना है कि वो ऑक्सीजन का इंतजाम कर रहे हैं लेकिन कहीं उपलब्ध नहीं है.

एक मरीज के अटेंडेंट से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने बताया कि उनकी मां पिछले 17 दिनों से भर्ती हैं और फिलहाल वेंटिलेटर पर हैं. डॉक्टरों ने उनसे कह दिया है कि वो मरीज के लिए बस आज शाम तक के लिए ही ऑक्सीजन बची है. लेकिन वो अपनी मां को कहीं और एडमिट नहीं करा पा रहीं.

Covid-19 Pandemic: महाराष्‍ट्र के ज्‍यादातर अस्‍पतालों में बेड फुल, पुणे में वेटिंग एरिया में लगाने पड़े ऑक्‍सीजन बेड..


बता दें कि नासिक में कोरोना के उपचार में इस्तेमाल होने वाली दवा REMDESIVIR का स्टॉक भी खत्म होने की जानकारी है. गुरुवार को यहां सीबीएस रोड पर सुबह 4 बजे से ही लोग लाइन लगाकर यह दवा खरीदने की कोशिश कर रहे थे, हालांकि, जिस मेडिकल शॉप पर वो खड़े थे, वहां भी आज बोल दिया गया है कि यहां दवा खत्म हो चुकी है. यहां पर दवा लेने के लिए 40 से 50 किलोमीटर दूर से लोग आए थे क्योंकि यह दवा कहीं नहीं मिल रही है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उधर महाराष्ट्र में कोविड वैक्सीन की शॉर्टेज की बात भी कही जा रही है. बुधवार को राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि राज्य में बस तीन दिनों के लिए वैक्सीन का स्टॉक बचा है.