Aero India 2021 शुरू : IAF के शानदार करतबों के बीच दिखेगी ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ की झलक

Aero India-2021 : ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ (Atmanirbhar Bharat) और ‘मेक इन इंडिया’ (Make In India) का प्रभाव दिखेगा. यह प्रदर्शनी प्रत्यक्ष एवं डिजिटल दोनों प्रकार के माध्यम में होगी.

Aero India 2021 शुरू : IAF के शानदार करतबों के बीच दिखेगी ‘आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ की झलक

तीन दिवसीय ‘एरो इंडिया’ (Aero India) कार्यक्रम तीन दिन चलेगा.

बेंगलुरु:

Aero India-2021 : कोरोना वायरस महामारी के बीच देश की प्रतिष्ठित एरोस्पेस एवं रक्षा प्रदर्शनी 'एरो इंडिया 2021'की शुरुआत बेंगलुरु में बुधवार को की गई. इसमें ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान' (Atmanirbhar Bharat) और ‘मेक इन इंडिया' (Make In India) का प्रभाव दिखेगा. यह प्रदर्शनी प्रत्यक्ष एवं डिजिटल दोनों प्रकार के माध्यम में होगी. प्रदर्शनी की शुरुआत के साथ ही भारतीय वायुसेना के विमानों ने आसमान में कई करतब दिखाए. एरो इंडिया 2021 में पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि हमारी आगामी सात से आठ साल में रक्षा क्षेत्र के आधुनिकीकरण पर 130 अरब डॉलर खर्च करने की योजना है.'

वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने ‘एरो इंडिया' कार्यक्रम को रक्षा और एरोस्पेस के क्षेत्र मे सहयोग का अद्भुत मंच बताया और कहा कि इन क्षेत्रों में किए जा रहे सुधारों से भारत के आत्मनिर्भर बनने के प्रयासों को बल मिलेगा .उन्होंने ट्वीट किया, ‘रक्षा और एरोस्पेस के क्षेत्र में भारत में असीमित क्षमता है. इन क्षेत्रों में सहयोग के लिए एरो इंडिया एक अद्भुत मंच है. भारत सरकार ने इन क्षेत्रों में भविष्य की दृष्टि से सुधार किए हैं जो आत्मनिर्भर बनने की हमारी कोशिशों को बल देगा.'

तीन दिवसीय ‘एरो इंडिया' (Aero India) कार्यक्रम बुधवार से बेंगलुरू में शुरू हो रहा है. सरकार के मुताबिक इस आयोजन में आत्मनिर्भर भारत की झलक दिखाई देगी और ‘मेक इन इंडिया' पर जोर होगा. इस द्विवार्षिक अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम का यह 13वां संस्करण है और येलहांका एयरफोर्स स्टेशन पर होने वाला यह दुनिया का पहला मिश्रित किस्म का एरोस्पेस शो होगा.

तीन दिवसीय आयोजन में प्रवेश के लिए आरटी-पीसीआर जांच की रिपोर्ट आवश्यक है जिसमें संक्रमण रहित होने की पुष्टि की गई हो. जांच रिपोर्ट 31 जनवरी या बाद की होनी चाहिए. कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर विमानों की प्रदर्शनी के स्थल पर एक दिन में सिर्फ तीन हजार आगंतुकों की ही इजाजत होगी. 


अधिकारियों ने बताया कि आयोजन में 601 कंपनियों ने हिस्सा लेने की पुष्टि की है जिनमें से 523 भारतीय तथा 78 विदेशी हैं. इसमें 14 देशों के प्रतिनिधि भी भाग लेंगे. इसमें रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) अपनी आधुनिक रक्षा प्रौद्योगिकी तथा प्रणालियों को प्रदर्शित करेगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


विमान प्रदर्शनी के मुख्य आकर्षण होंगे ‘सूर्य किरण' विमान और ‘सारंग' हेलिकॉप्टर. साउथ डकोटा में एल्वर्थ एयरफोर्स बेस की 28वीं बॉम्ब विंग का बी-1बी लांसर हैवी बॉम्बर ‘फ्लाय बाय' प्रस्तुत करेगा. (इनपुट- एजेंसियां)