गुजरात : 2 साल में 313 शेरों की मौत, मंत्री ने विधानसभा में दी जानकारी

गुजरात (Gujarat) के वन मंत्री गणपत वसावा (Ganpat Vasava) ने विधानसभा में बताया कि राज्य में 2019 और 2020 में 152 शावकों समेत कुल 313 शेरों की मौत हुई है.

गुजरात : 2 साल में 313 शेरों की मौत, मंत्री ने विधानसभा में दी जानकारी

152 शावकों समेत कुल 313 शेरों की मौत हुई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • दो साल में 313 शेरों की मौत
  • मंत्री ने विधानसभा में दी जानकारी
  • गुजरात के वन मंत्री हैं गणपत वसावा
गांधीनगर:

गुजरात (Gujarat) के वन मंत्री गणपत वसावा (Ganpat Vasava) ने शुक्रवार को विधानसभा में बताया कि राज्य में 2019 और 2020 में 152 शावकों समेत कुल 313 शेरों की मौत हुई है. इनमें से 23 की मौत अप्राकृतिक कारणों से हुई. कांग्रेस विधायक वीरजी ठुम्मर (Virji Thummar) के सवाल का जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि 2019 में 154 और 2020 में 159 शेरों की मौत हुई. इनमें 90 शेरनी, 71 शेर और 152 शावक शामिल हैं.

उन्होंने कहा, '313 में से 23 शेरों की मौत खुले कुओं में गिरने या वाहनों के टक्कर मारने जैसे अप्राकृतिक कारणों से हुई.' ठुम्मर ने दावा किया कि कुछ शेर वन विभाग द्वारा दिए जा रहे मांस को खाकर विभिन्न वायरस से संक्रमित हो रहे हैं. कांग्रेस विधायक के दावे के बाद मंत्री ने कड़ी कार्रवाई का वादा किया.

जाल में फंस गया था शेर का बच्चा, खुद को मुश्किल में डालकर शख्स ने ऐसे बचाई उसकी जान - देखें Video


वसावा ने कहा कि गिर अभयारण्य के निकट 43 हजार कुओं के आसपास दीवारें बनाई गई हैं ताकि शेर इनमें न गिरें. उन्होंने कहा कि संरक्षण के ऐसे ही कई प्रयास किए जाने की वजह से शेरों की आबादी 2015 की 523 से बढ़कर 2020 में 674 हो गई. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने बीते दो साल में शेरों के संरक्षण और गिर वन क्षेत्र में विकास गतिविधियों के लिये 108 करोड़ रुपये दिए थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: छत्तीसगढ़ के जंगल सफारी में पर्यटकों की बस के पीछे भागा बाघ



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)