मोबाइल ऐप के जरिए तुरंत ऋण देने वाली कंपनियों पर कार्रवाई में चीनी नागरिक सहित 3 गिरफ्तार

पुलिस आयुक्त महेश एक भागवत ने बताया कि जिन लोगों को हाल में गिरफ्तार किया गया है, उनमें पुणे से संचालित कॉलसेंटर का निदेशक, उसकी पत्नी, जो चीन की नागरिक है और एक एचआर (ह्यूमन रिसोर्स) मैनेजर शामिल है.

मोबाइल ऐप के जरिए तुरंत ऋण देने वाली कंपनियों पर कार्रवाई में चीनी नागरिक सहित 3 गिरफ्तार

प्रतीकात्मक तस्वीर

हैदराबाद:

तेलंगाना पुलिस ने रविवार को कहा कि उसने मोबाइल ऐप के जरिए तुरंत ऋण देने वाली कंपनियों पर कार्रवाई जारी रखते हुए पुणे स्थित एक कॉलसेंटर का भंडाफोड़ किया है. उन्होंने बताया कि इस कॉल सेंटर का इस्तेमाल ऐप के जरिये ऋण लेने वालों से वसूली करने के लिए उनका उत्पीड़न करने में किया जाता है. इस मामले में एक चीनी महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस ने बताया कि तीनों की गिरफ्तारी हैदराबाद के एक व्यक्ति की शिकायत पर की गई, जिसके मुताबिक ऑनलाइन ऋण ऐप कंपनी ऊंचे ब्याज दर पर कर्ज की रकम लौटाने का दबाव बनाने के लिए उसका उत्पीड़न कर रही थी. उन्होंने बताया कि इस मामले में शुक्रवार तक एक चीनी महिला सहित चार लोगों की गिरफ्तारी हुई है.

गौरतलब है कि पुलिस ने पिछले एक महीने में ऐसी ऐप आधारित कंपनियों के उत्पीड़न से कथित तौर पर तंग आकर एक इंजीनियर सहित तीन लोगों द्वारा आत्महत्या करने की घटना के बाद यह कार्रवाई शुरू की .


पुलिस आयुक्त महेश एक भागवत ने बताया कि जिन लोगों को हाल में गिरफ्तार किया गया है, उनमें पुणे से संचालित कॉलसेंटर का निदेशक, उसकी पत्नी, जो चीन की नागरिक है और एक एचआर (ह्यूमन रिसोर्स) मैनेजर शामिल है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पुलिस ने बताया कि कॉलसेंटर में इस समय 650 कर्मचारी काम कर रहे हैं, जिन्हें ऋण लेने वाले लोगों, उनके रिश्तेदारों एवं दोस्तों को अपने निजी मोबाइल फोन से कॉल कर ब्याज सहित ऋण चुकाने के लिए दबाव बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी.
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)