Fatty Liver Diet: फैटी लीवर रोगी बिना देर किए इन 7 घरेलू उपचारों को आजमाएं और जल्द पाएं परेशानी से छुटकारा

Home Remedies For Fatty Liver: फैटी लीवर की बीमारी आम नहीं है लेकिन यह आपके लीवर को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकती है. यहां कुछ घरेलू उपचार दिए गए हैं जो फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकते हैं.

Fatty Liver Diet: फैटी लीवर रोगी बिना देर किए इन 7 घरेलू उपचारों को आजमाएं और जल्द पाएं परेशानी से छुटकारा

Fatty Liver Diet: लीवर शरीर के डिटॉक्सिफिकेशन मैकेनिज्म को बनाए रखता है.

खास बातें

  • लीवर शरीर के डिटॉक्सिफिकेशन मैकेनिज्म को बनाए रखता है.
  • जब आपके लीवर पर फैट जमा हो जाता है तो आपको फैटी लीवर हो जाता है.
  • है. यह एक आम धारणा है कि शराब से लीवर की समस्या पैदा होती है.

Home Remedies For Fatty Liver: लीवर शरीर के डिटॉक्सिफिकेशन मैकेनिज्म को बनाए रखता है. अगर लीवर हेल्दी है, तो यह शरीर को ऑटोमेटिक रूप से डिटॉक्सीफाई करेगा और विषाक्त पदार्थों को हटा देगा. जब आपके लीवर पर फैट जमा हो जाता है तो आपको फैटी लीवर हो जाता है. आपके लीवर पर कुछ फैट जमा होना सामान्य है लेकिन, अतिरिक्त फैट एक स्वास्थ्य समस्या बन सकता है. यह एक आम धारणा है कि शराब से लीवर की समस्या पैदा होती है. शराब एक ऐसा तरीका है जिससे हमारा लीवर खराब हो सकता है. अन्य चीजें भी हमारे लीवर के लिए समस्या पैदा कर सकती हैं. कई लोग फैटी लीवर के लिए घरेलू उपाय की तलाश करते हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में कुछ गलत चीजों को इस्तेमाल करने लगते हैं. यहां फैटी लीवर से राहत पाने के लिए कुछ कारगर घरेलू नुस्खों के बारे में बताया गया है.

फैटी लीवर में मददगार आयुर्वेदिक घरेलू उपचार | Ayurvedic Home Remedies For Fatty Liver

1. भूमि आंवला

यह एक लीवर उत्तेजक है. यह लीवर को उत्तेजित करता है और उसकी कार्यप्रणाली को बढ़ाता है. इसमें एंटीपीयरेटिक और मलेरिया रोधी गुण होते हैं. यह भूख बढ़ाता है और मूत्र विकारों में बहुत सहायक होता है. इसे पाउडर या काढ़े के रूप में लिया जा सकता है.

2. हल्दी

इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं. शोध से पता चला है कि हल्दी लीवर की चोटों से बचाने और हमारे शरीर को हानिकारक विषाक्त पदार्थों से बचाने में एक शक्तिशाली घटक है. यह उन लोगों के लिए एक अच्छा विचार है जो डायबिटीज या अन्य समस्याओं जो लीवर को नुकसान पहुंचा सकती हैं. आपने देखा होगा कि हल्दी का इस्तेमाल आमतौर पर कई आयुर्वेदिक दवाओं में किया जाता है.

3. एलोवेरा

एलोवेरा फाइटोन्यूट्रिएंट्स का एक समृद्ध स्रोत है. यह अपने हाइड्रेटिंग गुणों के लिए भी जाना जाता है और त्वचा पर इसके लाभों के लिए भी लोकप्रिय रूप से उपयोग किया जाता है. मुसब्बर का रस हाइड्रेटेड रहने में बहुत फायदेमंद है आपके शरीर को डिटॉक्स करता है और उन सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है जो आपके लीवर को गंभीर नुकसान पहुंचा सकते हैं.

4. त्रिफला

यह आयुर्वेद के सबसे लोकप्रिय अवयवों में से एक है. इसे तीन पौधों आंवला, बिभीतकी और हरीतकी से बनाया जाता है. त्रिफला का रस पाचन को नियंत्रित करने और मल त्याग में मदद करने के लिए होता है. इसकी आमतौर पर लीवर की समस्याओं के लिए सिफारिश की जाती है. क्योंकि यह पाचन को बढ़ावा देकर लीवर पर विषाक्त तनाव को कम करता है.

mmcialnFatty Liver: त्रिफला का सेवन लीवर के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है

5. नट्स

एक हेल्दी डाइट नट्स शामिल होते हैं. नट्स आंत के लिए अच्छे होते हैं. कुछ अध्ययनों से पता चला है कि नियमित रूप से नट्स का सेवन लीवर एंजाइम के स्तर को बेहतर बनाने में मदद करता है. उदाहरण के लिए, अखरोट अमीनो एसिड, ग्लूटाथियोन और ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं. वे विषाक्त पदार्थों के शरीर को साफ करने में मदद करते हैं.

6. लहसुन

यह आमतौर पर ज्यादातर भारतीय रसोई में पाया जाता है. यह एक ऐसा घटक है जो हमारी डाइट के साथ-साथ व्यंजनों में भी मेन है. यह जीवाणुरोधी कारकों और सेलेनियम से भरा हुआ है. लहसुन लीवर के डिटॉक्स एंजाइम को सक्रिय करता है और प्राकृतिक रूप से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है.

7. साबुत अनाज और फल

साबुत अनाज जैसे जौ और जई, ताजा डेयरी और फल आपके लीवर को डिटॉक्स करने का सबसे अच्छा तरीका है. ओटमील, ब्राउन राइस, बाजरा और जौ जैसे रेशेदार अनाज ब्लड शुगर लेवल और लिपिड लेवल के नियमन में सुधार करते हैं.

इन 3 गलतियों से हो सकता है Fatty Liver!

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.