Breast Cancer Awareness Month: आप स्तन कैंसर के बारे में कितना जानते हैं? जानें इससे जुड़े आंकड़े और फैक्ट्स

Breast Cancer Awareness Month: अगर जल्दी पता नहीं लगाया गया, तो यह एक जानलेवा बीमारी हो सकती है क्योंकि यह शरीर के अन्य भागों में भी फैल सकती है. यहां स्तन कैंसर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण फैक्ट्स के बारे में बताया गया है जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए.

Breast Cancer Awareness Month: आप स्तन कैंसर के बारे में कितना जानते हैं? जानें इससे जुड़े आंकड़े और फैक्ट्स

Breast Cancer Awareness Month: अक्टूबर को ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस मंथ के रूप में मनाया जाता है

Breast Cancer Awareness Month 2021: अक्टूबर को ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस मंथ के रूप में मनाया जाता है, जो स्तन कैंसर के प्रभाव के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए एक वार्षिक अभियान है. हर अक्टूबर दुनिया भर में लोग स्तन कैंसर से प्रभावित सभी लोगों के लिए अपना समर्थन दिखाते हैं. हम शोध में तेजी लाने और पूरे साल हर तरह से महत्वपूर्ण सहायता प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं. स्तन कैंसर कैंसर का सबसे प्रचलित रूप है. यह बीमारी भारत समेत पूरी दुनिया में एक बड़ी समस्या बन चुकी है. स्तन कैंसर कोशिकाओं की अनियंत्रित वृद्धि की विशेषता है, जिसके परिणामस्वरूप स्तन के भीतर गांठ का निर्माण होता है. यह कैंसर के उपचार योग्य रूपों में से एक है. अगर जल्दी पता नहीं लगाया गया, तो यह एक जानलेवा बीमारी हो सकती है क्योंकि यह शरीर के अन्य भागों में भी फैल सकती है. यहां स्तन कैंसर के बारे में कुछ महत्वपूर्ण फैक्ट्स के बारे में बताया गया है जिन्हें आपको जरूर जानना चाहिए.

स्तन कैंसर क्या है? | What Is Breast Cancer?

स्तन कैंसर एक प्रकार का कैंसर है जो स्तन में शुरू होता है. कैंसर तब शुरू होता है जब कोशिकाएं नियंत्रण से बाहर होने लगती हैं. स्तन कैंसर की कोशिकाएं आमतौर पर एक ट्यूमर बनाती हैं जिसे अक्सर एक्स-रे पर देखा जा सकता है या एक गांठ के रूप में महसूस किया जा सकता है. स्तन कैंसर लगभग पूरी तरह से महिलाओं में होता है, लेकिन पुरुषों को भी स्तन कैंसर हो सकता है.

यह समझना महत्वपूर्ण है कि ज्यादातर स्तन गांठ सौम्य होते हैं न कि कैंसर (घातक). गैर-कैंसर वाले स्तन ट्यूमर असामान्य वृद्धि हैं, लेकिन वे स्तन के बाहर नहीं फैलते हैं। वे जीवन के लिए खतरा नहीं हैं, लेकिन कुछ प्रकार के सौम्य स्तन गांठ एक महिला को स्तन कैंसर होने का खतरा बढ़ा सकते हैं. किसी भी स्तन गांठ या परिवर्तन को हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स द्वारा जांचना जरूरी है ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि यह सौम्य है या घातक (कैंसर) है.

ब्रेस्ट कैंसर से जुड़े आंकड़े | Breast Cancer Statistics

  • भारतीय महिलाओं में होने वाले कैंसर के 14 प्रतिशत मामले स्तन कैंसर के होते हैं.
  • भारत में हर 2 महिलाओं में स्तन कैंसर का पता चलता है, एक महिला की इससे मृत्यु हो जाती है.
  • लगभग 50 प्रतिशत मामले 25 से 50 की उम्र वाले लोगों में सामने आते हैं.
  • भारत में स्तन कैंसर होने पर जीवित रहने की दर कम है क्योंकि इसका पता देर से चलता है.

स्तन कैंसर के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य | Important Facts About Breast Cancer

1. अमेरिका में 8 में से 1 महिला को अपने जीवनकाल में स्तन कैंसर का पता चलता है.

2. स्तन कैंसर के लिए सबसे महत्वपूर्ण जोखिम कारक महिला होना और उम्र बढ़ना है. अमेरिका में सभी स्तन कैंसर का लगभग 95% 40 वर्ष और उससे अधिक उम्र की महिलाओं में होता है.

3. जो महिलाएं नियमित रूप से स्तन कैंसर की जांच करवाती हैं, उनमें बीमारी से मरने का जोखिम उन महिलाओं की तुलना में 47% कम होता है, जो ऐसा नहीं करती हैं.

4. 1990 के बाद से स्तन कैंसर से होने वाली मौतों में कमी आई है, इसका श्रेय जल्दी पता लगाने, बेहतर टेस्ट, बढ़ती जागरूकता और नए उपचार विकल्पों को जाता है.

5. हर साल यह अनुमान लगाया जाता है कि संयुक्त राज्य में 220,000 से अधिक महिलाओं में स्तन कैंसर का निदान किया जाएगा और 40,000 से अधिक की मृत्यु हो जाएगी.

6. स्तन कैंसर अमेरिका में महिलाओं में कैंसर से होने वाली मौतों का दूसरा प्रमुख कारण है और वैश्विक स्तर पर महिलाओं में कैंसर से होने वाली मौतों का पहला प्रमुख कारण है.

7. आज अमेरिका में, 35 लाख से अधिक स्तन कैंसर सर्वाइवर हैं.

8. अमेरिका में हर 2 मिनट में एक महिला को स्तन कैंसर का पता चलता है.

9. दुनिया में हर मिनट कहीं न कहीं ब्रेस्ट कैंसर से एक महिला की मौत होती है. यानी हर दिन 1,400 से ज्यादा महिलाएं.

10. एक आदमी के जीवन भर में स्तन कैंसर का जोखिम 1,000 में लगभग 1 होता है.

कैंसर के सात वार्निंग स‍िगनल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.