फरीदाबाद : जाम लगाकर रास्‍ता रोकने के मामले में 7 नामजद आरोपियों सहित 100 पर केस

रास्ता अवरुद्ध करने की वजह से सड़क पर आवागमन प्रभावित हुआ और लोगों को आवागमन में बहुत अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ा.

फरीदाबाद : जाम लगाकर रास्‍ता रोकने के मामले में 7 नामजद आरोपियों सहित 100 पर केस

केस दर्ज होने के पश्चात आरोपी रास्ता छोड़कर वहां से फरार हो गए

फरीदाबाद :

जाम लगाकर रास्ता रोकने के मामले में सूरजकुंड पुलिस ने 7 नामजद आरोपियों सहित करीब 100 लोगों पर केस दर्ज किया है. डीसीपी एनआईटी नरेंद्र कादियान के निर्देश पर सूरजकुंड पुलिस प्रभारी इंस्पेक्टर बलराज की टीम ने यह कार्रवाई की है. पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि पुलिस थाना सूरजकुंड में दर्ज किए गए मुकदमे में ईरोज गार्डन के रहने वाले गजेंद्र, गोविंद, चंद्रप्रकाश, प्रिंस, नरेंद्र, अरुण तथा महेंद्र का नाम शामिल है. इसके अलावा कई अज्ञात आरोपी भी शामिल है जिनकी पहचान की जा रही है. आरोपियों की पहचान के लिए पुलिस द्वारा सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है जिसके आधार परसड़क जाम करते दिखाई दे रहे लोगों की शिनाख्त की जाएगी. 

दरअसल] काफी समय पहले सूरजकुंड चौक से बड़खल की तरफ करीब 160 फीट की सड़क बनाई गई थी जिसकी जमीन एमसीएफ के अधीन आती है. यह सड़क अतुल सूद नामक बिल्डर ने बनवाई थी. बिल्डर को एमसीएफ द्वारा जमीन की राशि का भुगतान करने के लिए कई बार नोटिस भेजे गए परंतु इसका कोई जवाब नहीं दिया गया. इसके बाद कल एमसीएफ द्वारा इस सड़क को तोड़ दिया गया. इसी का विरोध करते हुए इरोज निवासियों ने आज वहां पर जाम लगाकर रास्ता बाधित करने की कोशिश की. रास्ता अवरुद्ध करने की वजह से सड़क पर आवागमन प्रभावित हुआ और लोगों को आवागमन में बहुत अधिक परेशानियों का सामना करना पड़ा. सूचना मिलते ही  एसीपी बड़खल सुखबीर सिंह तथा थाना व चौकी प्रभारी अपनी टीम सहित मौके पर पहुंचे और लोगों को रास्ता अवरुद्ध न करने के बारे में समझाया. 

एसीपी सुखबीर ने सड़क जाम कर रहे लोगों से अनुरोध करते हुए कहा कि प्रदर्शन करना आपका अधिकार है परंतु सरकारी रास्ते को अवरुद्ध करके आमजन को परेशान करना कानूनन अपराध है जिसके लिए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई हो सकती है इसलिए वह जाम न लगाएं. हालांक‍ि  काफी देर समझाने के पश्चात भी जब इन लोगों ने जाम नहीं खोला तो पुलिस ने 7 नामजद आरोपियों सहित करीब 100 लोगों के खिलाफ रास्ता अवरुद्ध करने, सरकारी ड्यूटी में बाधा डालने से संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज कर दिया. केसदर्ज होने के पश्चात आरोपी रास्ता छोड़कर वहां से फरार हो गए. पुलिस द्वारा आरोपियों की तलाश की जा रही है.

* राज्यसभा से तीन और विपक्षी सांसद निलंबित, अब तक कुल 27 सांसद हो चुके निलंबित
* कांग्रेस नेता की 'राष्ट्रपत्नी' वाली टिप्पणी परहंगामा, सोनिया गांधी ने कहा - "वह माफी मांग चुके हैं..."
* "हम सभी के लिए अपमान...." : बंगाल के मंत्री के 'करीबी' के घर से करोड़ों रु. मिलने पर TMC के प्रवक्ता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मध्य प्रदेश: एक ही सिरिंज से 30 छात्रों को लगाया कोरोना का टीका