Manage Type- 2 Diabetes: यह आयुर्वेदिक चाय डायबिटीज में दिलाएगी राहत...

आंवला में मौजूद गुण शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाते हैं और साथ ही कई बीमारियों को जड़ से भी खत्‍म करता है. आंवला में विटामिन C, विटामिन AB कॉम्‍प्‍लेक्‍स, पोटैशिम, कैलशियम, मैग्‍नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और डाययूरेटिक एसिड होते हैं.

Manage Type- 2 Diabetes: यह आयुर्वेदिक चाय डायबिटीज में दिलाएगी राहत...

Diabetes Management: डायबिटीज में आंवला के कई फायदे हैं

खास बातें

  • डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों के लिए तो आंवला रामबाण है.
  • असल में यह सेल्स शरीर में ब्लड शुगर को कंट्रोल करते हैं.
  • इस समय डायबिटीज से दुनिया भर में 425 मिलियन यानी 42.5 करोड लोग पीडित हैं

Manage Type- 2 Diabetes: इस समय डायबिटीज से दुनिया भर में 425 मिलियन यानी 42.5 करोड लोग पीडित हैं. साल 2017 में डायबिटीज के तकरीबन 72.9 मिलियन मामले भारत में सामने आए. डायबिटीज उस स्थिति को कहा जाता है जब ब्लड शुगर लेवल या ग्लूकोज अधिक हो जाए. पहले किए गए अध्ययनों में यह बात सामने आ चुकी है कि डायबिटीज किडनी से जुड़ी परेशानियां पैदा करती है और साथ ही साथ मोटापा और दिल से जुड़े रोग भी डायबिटीज के चलते हो जाते हैं. डायबिटीज से पीडि़त लोगों को उनकी डाइट का (Diabetes Diet) खास ध्यान रखने की सलाह दी जाती है. मधुमेह या डायबिटीज (Diabetes ) मेटाबोलिक बीमारियों का एक समूह है, जिसमें खून में ग्लूकोज या ब्लड शुगर (Blood sugar level) का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है. ऐसा तब होता है, जब शरीर में इंसुलिन (Insulin) ठीक से न बने या शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन (Insulin) के लिए ठीक से प्रतिक्रिया न दें. जिन मरीजों का ब्लड शुगर (Blood sugar level) सामान्य से अधिक होता है वे अक्सर पॉलीयूरिया (बार बार पेशाब आना) से परेशान रहते हैं. उन्हें प्यास (पॉलीडिप्सिया) और भूख (पॉलिफेजिया) ज्यादा लगती है. दुनिया भर में लाखों लोगों आज हाई बीपी (High BP) और हाइपरटेंशन (Hypertension) की समस्‍या का सामना कर रहे हैं.

युवा पीढ़ी के बीच आज भी हाई ब्‍लड प्रेशर प्रचलित हो रहा है. 20 और 30 साल की उम्र वाले लोग तेजी से ब्‍लड प्रेशर की शिकायत कर रहे हैं. यदि आपका ब्‍लड प्रेशर लगातार 120/80 मिमीएचएचजी से अधिक है, तो आपको तुरंत कार्डियक विशेषज्ञ से सलाह लेनी चाहिए. उचित देखभाल और ध्यान की कमी के कारण, हाई ब्‍लड प्रेशर या हाइपरटेंशन होने लगता है, जो धमनियों में जकड़न, रक्त प्रवाह में बाधा और स्ट्रोक का कारण बन सकता है. डाइट आपके दिल की हेल्‍थ को बनाए रखने और ब्‍लड प्रेशर के लेवल को कंट्रोल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.

आंवला या इंडियन गूजबैरी (Amla or Indian Gooseberry) डायबिटीज में बहुत फायदेमंद होता है. आंवले में क्रोमियम तत्‍व पाए जाते हैं जो इंसुलिन हारमोंस को मजबूत कर खून में शुगर लेवल को कंट्रोल करते हैं. तो चलिए एक नजर देखते हैं डायबिटीज में आंवला से मिलने वाले फायदों पर- 

h91mgd9g

Diabetes Management: डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों के लिए तो आंवला रामबाण है

डायबिटीज में आंवला के हैं कई फायदे (Amla For Diabetes) : 

डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों के लिए तो आंवला रामबाण है. आवला में पॉलीफेनॉल होता है जो हाई ब्लड शुगर कंट्रोल करता है. पॉलीफेनॉल इंसुलिन के रेसिस्टेंस को रोकते हैं. आंवला ब्लड शुगर में इंसुलिन घुलने से रोकता है. 

आंवला की अच्छी बात यह है कि यह क्रोमियम इंसुलिन बनाने वाले सेल्स को ऐक्टिवेट कर देता है. ऐसा होने से ब्लड शुगर कंट्रोल होता है. असल में यह सेल्स शरीर में ब्लड शुगर को कंट्रोल करते हैं.

आंवला में मौजूद गुण शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाते हैं और साथ ही कई बीमारियों को जड़ से भी खत्‍म करता है. आंवला में विटामिन C, विटामिन AB कॉम्‍प्‍लेक्‍स, पोटैशिम, कैलशियम, मैग्‍नीशियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और डाययूरेटिक एसिड होते हैं. 

आंवला के नियमित सेवन से दिल की बीमारी, डायबिटीज, बवासीर, अल्सर, दमा, ब्रॉन्काइटिस और फेफड़ों की बीमारी में राम बाण का काम करता है.

कैसे बनाएं आंवला टी (How To Make Amla Tea For Diabetes)

1. एक स्टील के कंटेनर में एक से दो कप पानी लें.
2. एक चम्मच सूख आंवला डालें और इसमें कुछ अदरक भी डाल दें.
3. इसे 10 मिनट तक आंच पर पकने दें. 
4. इसके बाद छान कर पी लें. 

इसे दिन में दो बार पिएं और खुद में बदलाव महसूस करें. एक बात का ध्यान रखें कि आप अपने आहार में किसी भी तरह का बदलाव डॉक्टरी सलाह के बिना न करें.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

और खबरों के लिए क्लिक करें.