Bone Health: स्वाद और सेहत में भरपूर रागी और बाजरा रोटी, हड्डियों को भी मजबूती देने हैं मददगार

वास्तव में, रागी, बाजरा और कुट्टू के आटे जैसे अनाज ने लगभग आज भी लगभग हर रसोई घर में अपनी स्थि​रता बना रखी है.

Bone Health: स्वाद और सेहत में भरपूर रागी और बाजरा रोटी, हड्डियों को भी मजबूती देने हैं मददगार

खास बातें

  • रागी और बाजरे में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं.
  • रागी कैल्शियम का एक भंडार है..
  • बाजरा, फास्फोरस से भरा होता है,.

आज के दौर में अधिक से अधिक लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत होते जा रहे हैं, वहीं पाक कला की दुनिया में भी बाजरा फिर से लौट आया है. फिटनेस के प्रति उत्साही किसी व्यक्ति से इस बारे में पूछा जाए तो वे इस प्राचीन अनाज के समृद्ध पोषक तत्वों के बारे में बताएगा. वास्तव में, रागी, बाजरा और कुट्टू के आटे जैसे अनाज ने लगभग आज भी लगभग हर रसोई घर में अपनी स्थि​रता बना रखी है. ये भारतीय अनाज प्रोटीन, आहार फाइबर, विटामिन और कई आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं - इतना ही नहीं वजन कम करने में भी मददगार होते हैं. बाजरा भी अच्छे कार्ब्स से समृद्ध होता है और पाचन को विनियमित करने में मदद करता है. इनके सेवन से लंबे समय तक पेट भरा रहता है, जिसकी वजह से बाजरा और रागी से आपको वजन घटाने में भी मदद मिलती है.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन प्राचीन अनाजों का हमारी हड्डियों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. जी हां, रागी और बाजरा कई आवश्यक खनिजों से भरे होते हैं - यह अनाज हड्डियों को मजबूत बनाने के अलावा ज्वाइंट से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने के लिए आदर्श हैं.

Onion For Long Hair: बालों को लंबा, घना और चमकदार बनाने के लिए अपनाएं प्याज के ये चार आसान तरीके!

यहां जाने बाजरा और रागी के स्वास्थ्य लाभ:

  • दिल्ली स्थित वजन प्रबंधन और आहार विशेषज्ञ अंशुल जयभारत के अनुसार, "संयुक्त समस्याओं वाले लोगों को आम तौर पर अपने आहार में अतिरिक्त अनाज शामिल नहीं करने की सिफारिश की जाती है. हालांकि, बाजरा एक अपवाद है. इसके पोषक तत्व-प्रोफाइल के कारण, बाजरे को हड्डी के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है."
  • रागी और बाजरे में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन को रोकने में मदद करते हैं जो जोड़ों और गठिया से संबंधित दर्द को शांत करते हैं.
  • रागी कैल्शियम का एक भंडार है. यह कैल्शियम के सर्वोत्तम गैर-डेयरी स्रोतों में से एक है. भारत में राष्ट्रीय पोषण संस्थान के अनुसार, 100 ग्राम रागी में 244mg कैल्शियम होता है. इसलिए, विशेषज्ञ ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने और फ्रैक्चर के जोखिम को कम करने के लिए रागी का उपयोग करते हैं.
  • दूसरी ओर, बाजरा, फास्फोरस से भरा होता है, जो कैल्शियम के साथ मिलकर हमारी हड्डियों को बनाने में मदद करता है. सलाहकार पोषण विशेषज्ञ रूपाली दत्ता के अनुसार, प्रति 100 ग्राम बाजरे में 42mg कैल्शियम और 296-ग्राम फास्फोरस होता है.

अपने दैनिक आहार में बाजरे और रागी को कैसे शामिल करें:

विश्व व्यंजनों में उनकी लोकप्रियता और व्यापक उपयोग के कारण, आज आप इन अनाजों से बनें विभिन्न व्यंजन मिलेंगे जिनमें चिप्स, दलिया, खिचड़ी, सलाद जैसी चीजें शामिल हैं. हालांकि, रागी और बाजरे की रोटी बहुत लोकप्रिय है, विशेष रूप से भारतीय खाद्य संस्कृति में.

रागी रोटी कैसे बनाएं:

यह एक लोकप्रिय भारतीय रोटी, रागी रोटी में सब्जियां और मसाले शामिल हैं जो स्वास्थ्य और स्वाद के बीच सही संतुलन बनाते हैं. गर्म और नरम रागी रोटी को दही और चटनी के साथ आप सुबह नाश्ते खा सकते हैं. पूरी रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

बाजरे की रोटी कैसे बनाएं:

इसे भाखरी के नाम से भी जाना जाता है, बाजरे की रोटी भारत के कई हिस्सों में लोकप्रिय है. इसे घी लगाकर  सब्ज़ी और साइड में थोड़े से गुड़ के साथ परोसा जाता है जो खाने में बहुत ही मजेदार लगती है. पूरी रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

फूड की और खबरों के लिए जुड़े रहें.

Side Effects Of Bananas: डायबिटीज के रोगियों के लिए नुकसानदायक है केले का सेवन, जानें ये चार साइड इफेक्ट्स

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Gur-Chana Benefits: कब्ज की समस्या में रामबाण से कम नहीं है गुड़ और चना, जानें ये 5 लाभ!