विज्ञापन
Story ProgressBack

ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री की गोली लगने से मौत, गोली मारने वाला पुलिसकर्मी गिरफ्तार; 10 बड़ी बातें

ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नब किशोर दास की हत्या हो गई है. रविवार दोपहर ब्रजराजनगर में एक असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर (ASI) ने उनपर फायरिंग कर दी थी. पहले रिपोर्ट आई थी कि नब दास के सीने में 4-5 गोलियां लगी हैं, लेकिन बाद में पुलिस ने दो गोलियां लगने की पुष्टि की है. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

Read Time:3 mins

ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नब किशोर दास पर जानलेवा हमला हुआ है.

भुवनेश्वर:

ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नब किशोर दास की हत्या हो गई है. रविवार दोपहर ब्रजराजनगर में एक असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर (ASI) ने उनपर फायरिंग कर दी थी. पहले रिपोर्ट आई थी कि नब दास के सीने में 4-5 गोलियां लगी हैं, लेकिन बाद में पुलिस ने दो गोलियां लगने की पुष्टि की है. इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

  1. समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हुए ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नब किशोर दास की इलाज के दौरान मौत हो गई है. उन्हें भुवनेश्वर के अस्पताल में इलाज के लिए एयरलिफ्ट किया गया था. क्राइम ब्रांच ने मामले की जांच शुरू कर दी है.
  2. पुलिस अधिकारी ने बताया कि नब दास कार्यक्रम में शामिल होने ब्रजराजनगर पहुंचे थे. कार से उतरते ही एक ASI गोपालदास ने नब दास पर चार से पांच राउंड गोलियां चलाईं.
  3. पुलिस ने फायरिंग करने वाले ASI गोपालदास को गिरफ्तार कर लिया गया है. उससे पूछताछ की जा रही है, लेकिन अभी तक आरोपी ने हमले की वजह नहीं बताई है. नब किशोर दास को क्षेत्र में प्रभावशाली नेता माना जाता है.
  4. समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, ओडिशा सरकार ने मामले की जांच सीआईडी-क्राइम ब्रांच को दे दी है. 7 सदस्यीय स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) में साइबर, बैलिस्टिक और क्राइम ब्रांच के अधिकारी भी शामिल हैं. इस टीम का नेतृत्व DSP रमेश सी डोरा कर रहे हैं.
  5. ओडिशा के CM नवीन पटनायक ने स्वास्थ्य मंत्री पर हमले की निंदा की है. उन्होंने कहा- 'हमले की खबर सुनकर स्तब्ध हूं, उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं. क्राइम ब्रांच को जांच करने का निर्देश दिया है. अधिकारियों को घटनास्थल पर जाने के लिए कहा गया है.'
  6. दास पर हमले के बाद शहर में तनाव व्याप्त हो गया. मंत्री की समर्थकों ने उनकी ‘सुरक्षा में चूक' पर सवाल उठाए.  कुछ समर्थकों ने आरोप लगाया कि दास को निशाना बनाने के लिए साजिश रची गई थी. 
  7. नब किशोर दास ने ओडिशा की झारसुगुड़ा सीट से 2004 में पहली बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए. इसके बाद 2009 में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीते. 2014 में भी कांग्रेस से जीते. साल 2019 का चुनाव वे बीजू जनता दल से लड़कर लगातार तीसरी बार इसी सीट से विधायक चुने गए. 
  8. नब किशोर ओडिशा सरकार के सबसे अमीर मंत्रियों में से एक हैं. उनके पास संबलपुर, भुवनेश्वर और झारसुगुड़ा के कई बैंकों में 45.12 लाख रुपये से अधिक रकम जमा है. 
  9. नब किशोर दास हाल ही में भारी-भरकम दान कर सुर्खियों में आए थे. उन्होंने महाराष्ट्र के एक मंदिर में एक करोड़ रुपये से अधिक का सोने का कलश दान किया था.
  10. दास ने महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर मंदिर को 1.7 किलोग्राम सोने और 5 किलोग्राम चांदी से बने कलश दान किए थे.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
आखिर आग के गोले क्यों बरसा रहा सूरज? 8 आसान प्वाइंट्स में समझिए...
ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री की गोली लगने से मौत, गोली मारने वाला पुलिसकर्मी गिरफ्तार; 10 बड़ी बातें
बांग्लादेश में कड़ी सुरक्षा के बीच हो रहा मतदान, मैदान में 1500 से अधिक उम्मीदवार, चुनाव से जुड़ी 10 बड़ी बातें
Next Article
बांग्लादेश में कड़ी सुरक्षा के बीच हो रहा मतदान, मैदान में 1500 से अधिक उम्मीदवार, चुनाव से जुड़ी 10 बड़ी बातें
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;