Parivartini Ekadashi 2021 date: एकादशी तिथि पर लक्ष्मी पूजन का विशेष योग, जानें किस मुहूर्त पर पूजा करना रहेगा शुभ

Shubh Labh: एकादशी तिथि पर लक्ष्मी पूजन का विशेष योग बन रहा है. शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी को समर्पित है. आज (17 सितंबर) ही के दिन एकादशी की तिथि और शुक्रवार दोनों हैं, जो की शुभ योग बना रहे हैं. जानिये किस समय मां लक्ष्मी का पूजन करना होगा शुभकारी.

Parivartini Ekadashi 2021 date: एकादशी तिथि पर लक्ष्मी पूजन का विशेष योग, जानें किस मुहूर्त पर पूजा करना रहेगा शुभ

Laxmi Puja Vidhi: एकादशी तिथि पर लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त

खास बातें

  • एकादशी तिथि पर लक्ष्मी पूजन का विशेष योग
  • जानिये मां लक्ष्मी की पूजा का महत्व
  • मां लक्ष्मी की पूजा विधि
नई दिल्ली:

Ekadashi In October 2021: मां लक्ष्मी की पूजा-अराधना के लिए आज का दिन (17 सितंबर, 2021) यानि शुक्रवार को विशेष संयोग बन रहा है. बता दें कि शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी की पूजा-पाठ के लिए उत्तम माना गया है. शास्त्रों में धन की देवी माने जाने वाली मां लक्ष्मी की पूजा आज आप शुभ मुहूर्त पर करें, जो आपके लिए फलदायी व शुभकारी साबित हो. पंचांग के अनुसार, आज भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि है, जो शुक्रवार के दिन होने के कारण शुभकारी संयोग लेकर आई है. बता दें कि चंद्रमा इस दिन मकर राशि में गोचर कर रहा है.वहीं, आज श्रवण नक्षत्र बना हुआ है, जो काफी शुभ है. एकादशी की तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है. भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी को परिवर्तिनी एकादशी भी कहा जाता है. इस दिन भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है. शास्त्रों में मां लक्ष्मी को भगवान श्री हरि विष्णु की पत्नी बताया गया है. जानिये एकादशी पूजा का शुभ मुहूर्त. 

जानिये मां लक्ष्मी की पूजा का महत्व

सुख-समृद्धि और वैभव की देवी माने जाने वाली मां लक्ष्मी को धन का कारक माना गया है. माना जाता है कि मां लक्ष्मी की पूजा जीवन में आने वाले कष्टों को दूर कर सुख-समृद्धि देने वाली मानी गई है. मां लक्ष्मी का आशीर्वाद मान सम्मान में भी वृद्धि करता है. इसके साथ ही घर में वैभव को बनाये रखता है.

ee1koc88

Ekadashi 2021 Date:  मां लक्ष्मी की पूजा-अराधना का शुभ समय

पूजा का शुभ मुहूर्त

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पंचांग के अनुसार, सर्वार्थ सिद्धि योग आज (17 सितंबर 2021) प्रात: 06 बजकर 07 मिनट से 18 सितंबर 2021, शनिवार को प्रात: 03 बजकर 36 मिनट तक है.

मां लक्ष्मी की पूजा विधि

  • शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करना बेहद शुभ माना गया है.
  • कहते हैं मां लक्ष्मी में साफ स्थान पर निवास करती हैं, इसलिए सबसे पहले सुबह स्नान करने के बाद पूजा घर को अच्छी तरह साफ कर लें.
  • इसके बाद स्वच्छ वस्त्र धारण करने के बाद व्रत का संकल्प लें.
  • अब धूप-दीप और भोग के बाद हवन व आरती करें.
  • सुबह की तरह ही आप शाम को भी मां लक्ष्मी की पूजा-अराधना करें.
  • इस दिन मां लक्ष्मी की आरती विशेष फलदायी मानी गई है.
  • ध्यान रखें पूजा में माता लक्ष्मी की प्रिय चीजों को अवश्य शामिल करें.
  • शाम के समय लक्ष्मी आरती के बाद घर के मुख्य द्वार पर घी का दीपक जलाना ना भूलें.
  • इसके बाद प्रसाद वितरित करना चाहिए.
  • यदि इस दिन व्रत रखते हैं तो व्रत को विधि पूर्वक पूर्ण करना चाहिए.