2 फरवरी से लापता दिल्ली यूनिवर्सिटी की थर्ड ईयर की छात्रा का शव मिला, दोस्त गिरफ्तार

2 फरवरी से लापता दिल्ली यूनिवर्सिटी की थर्ड ईयर की छात्रा का शव मिला, दोस्त गिरफ्तार

आरजू सिंह का शव वेंटिलेशन एरिया से बरामद हुआ

नई दिल्ली:

मॉडल टाउन के राजपुरा गांव में आरजू चौहान के घर में मातम पसरा है। 21 साल की आरजू सिंह 2 फरवरी से गायब थी लेकिन रविवार की सुबह जानकारी मिली कि आरजू का शव उसके पड़ोस में बरामद हुआ है।

उसकी हत्या के बाद पहचान छिपाने के लिए उसके शव को जलाया भी गया है। आरजू की बहन पायल ने बताया कि 2 फरवरी को सुबह करीब 8:30 बजे आरजू लक्ष्मीबाई कॉलेज अपनी क्लास अटेंड करने गयी। वो बीए थर्ड ईयर की छात्रा थी।

लेकिन जब वो शाम तक वापस नहीं लौटी और उसका मोबाइल भी बंद आने लगा तो उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट मॉडल टाउन थाने में दर्ज करायी गयी।

 

उसकी तलाश करने के लिए घरवाले आरजू के कॉलेज भी गये। कॉलेज में पता चला कि आरजू नवीन खत्री नाम के एक लड़के से अक्सर मिलती थी। पायल के मुताबिक नवीन उसका पड़ोसी है और आरजू से उसकी दोस्ती करीब एक साल पहले हुई थी। लेकिन करीब 4 महीने पहले नवीन और आरजू के परिवार ने दोनों की शादी से इंकार कर दिया, क्योंकि दोनों एक ही गांव के थे और अलग-अलग जाति से थे।

घरवालों की निशानदेही पर शनिवार यानी 6 फरवरी की रात जब पुलिस नवीन के घर पहुंची तो पहली मंजिल पर आरजू की लाश बरामद हुई। पुलिस ने जब कड़ाई से नवीन से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसकी शादी 4 फरवरी को किसी और लड़की से होनी थी। इसकी जानकारी जब आरजू को लगी तो 2 फरवरी को आरजू ने नवीन से मिलकर नाराजगी जताई।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नवीन उसे अपने साथ कार में एयरपोर्ट से पास सुनसान इलाके में ले गया और गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद वो शव कार की डिक्‍की में रखकर अपने घर ले आया और शव को वेटिंलेशन की शाफ्ट में छुपा दिया। 2 दिन बाद यानी 4 फरवरी को उसकी शादी किसी और लड़की से हो गयी। नई दुल्हन को भी उसी फ्लैट में ठहराया गया जहां आरजू का शव रखा हुआ था। हत्याकांड के बाद लड़के और लड़की के घर सुरक्षा बढ़ा दी गयी। नवीन का पूरा परिवार भी शक के दायरे में है।