क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में मंदी के बावजूद Binance और Kraken विस्तार रखेंगे जारी

ट्रेड वॉल्यूम के लिहाज से सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज Binance ने 2,000 एंप्लॉयीज को रिक्रूट करने की योजना बनाई है

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में मंदी के बावजूद Binance और Kraken विस्तार रखेंगे जारी

Binance ने 2,000 एंप्लॉयीज को रिक्रूट करने की योजना बनाई है

खास बातें

  • क्रिप्टो मार्केट में पिछले कुछ महीनों से गिरावट है
  • इससे इस सेगमेंट की फर्मों पर बड़ा असर हुआ है
  • कुछ क्रिप्टो फर्मों ने छंटनी करने का फैसला किया है

क्रिप्टो मार्केट में गिरावट के बावजूद दो बड़े क्रिप्टो एक्सचेंजों Binance और Kraken ने हायरिंग की अपनी योजना पर आगे बढ़ने का फैसला किया है. ट्रेड वॉल्यूम के लिहाज से सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज Binance ने 2,000 एंप्लॉयीज को रिक्रूट करने की योजना बनाई है. चौथे सबसे बड़े एक्सचेंज Kraken ने बताया है कि वह इस वर्ष 500 से अधिक एंप्लॉयीज को हायर करेगा.

Binance के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर Changpeng Zhao ने राइवल एक्सचेंजों पर तंज कसते हुए ट्वीट किया कि Binance इस वर्ष ग्रोथ के लिए तैयारी कर रहा है. कुछ क्रिप्टो एक्सचेंजों के छंटनी करने की घोषणा करने के बाद Kraken के भी वर्कफोर्स को घटाने की अटकलें लगी थी. हालांकि. एक्सचेंज ने एक ब्लॉग पोस्ट में बताया कि वह इस वर्ष के लिए हायरिंग की अपनी योजना में बदलाव नहीं करेगा. Binance को चलाने वाली फर्म Binance Global की योजनाओं में Web3 से जुड़े प्रोजेक्ट्स पर काम करना शामिल है. इसकी यूनिट Binance Labs ने अपने Web3 से जुड़े फंड के लिए लगभग 50 करोड़ डॉलर का इनवेस्टमेंट हासिल किया है. इनवेस्टमेंट करने वालों में DST Global Partners और Breyer Capital शामिल हैं. इस फंड से क्रिप्टो और Web3 स्टार्टअप्स की मदद की जाएगी. 

इस सप्ताह की शुरुआत में क्रिप्टो एक्सचेंज Crypto.com ने अपनी वर्कफोर्स को घटाने की जानकारी दी थी. इसके अलावा BlockFi ने भी अपने एंप्लॉयीज की संख्या में लगभग 20 प्रतिशत की कमी करने की घोषणा की थी. बड़े क्रिप्टो एक्सचेंजों में शामिल Coinbase ने भी अपनी वर्कफोर्स को लगभग 18 प्रतिशत कम करने का फैसला किया है. 

Coinbase ने इसकी चपेट में आए एंप्लॉयीज को ईमेल के जरिए यह जानकारी दी है. एक्सचेंज के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर Brian Armstrong ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, "हमारी टीम के साइज को लगभग 18 प्रतिशत कम करने का मुश्किल फैसला लिया गया है. इससे इकोनॉमिक स्लोडाउन के दौरान फर्म की मजबूत स्थिति को पक्का किया जा सकेगा." उन्होंने एक्सचेंज के लिए हायरिंग की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि पिछले कुछ महीनों में बहुत से लोगों को रिक्रूट किया गया था और इससे अब फर्म की एफिशिएंसी पर असर पड़ रहा है. एक्सचेंज ने हटाए जा रहे एंप्लॉयीज को सेवरेंस पैकेज और हेल्थ इंश्योरेंस उपलब्ध कराने का दावा किया है. 


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com