भारतीय युवा खिलाड़ियों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को ग्रेग चैपल ने 'प्राइमरी स्कूल' का बताया

AUS v IND: भारत से मिली हार का गम ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़़ी से लेकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी अभी तक नहीं भूला पाए हैं. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान ग्रेग चैपल (Greg Chappell) ने ऑस्ट्रेलिया टीम की हार को लेकर टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को 'प्राइमरी स्कूल' का छात्र बताया है

भारतीय युवा खिलाड़ियों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को ग्रेग चैपल ने 'प्राइमरी स्कूल' का बताया

भारतीय युवा खिलाड़ियों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को ग्रेग चैपल ने 'प्राइमरी स्कूल' का बताया

AUS v IND: भारत से मिली हार का गम ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़़ी से लेकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी अभी तक नहीं भूला पाए हैं. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान ग्रेग चैपल (Greg Chappell) ने ऑस्ट्रेलिया टीम की हार को लेकर टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को 'प्राइमरी स्कूल' का छात्र बताया है. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने ऑस्ट्रेलिया के अखबार के कॉलम में भारतीय युवा खिलाड़ियों की तारीफ की है, उन्होंने लिखा है कि, हमारे खिलाड़ी को चुनौतीपूर्ण क्रिकेट अंडर-16 ग्रुप के बाद मिलता है लेकिन भारतीय खिलाड़ी इस उम्र तक देश के लिए खेलने को तैयार हो जाते हैं. उन्होंने अपने कॉलम में बीसीसीआई (BCCI) के मजबूत घरेलू ढांचे की तारीफ की, उनका मानना है कि घरेलू स्तर पर भारतीय खिलाड़ी चुनौतीपूर्ण क्रिकेट खेलना प्रारंभ कर पाते हैं.

IPL 2021 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी कब होगी, BCCI ने तारीख को लेकर दी यह जानकारी

यही कारण है कि ऑस्ट्रेलिया में उन्हें ऐसी ऐतिहासिक जीत मिली. वो इस जीत के हकदार हैं. चैपल ने सीधे तौर पर माना है कि भारतीय युवा क्रिकेटर हमारे क्रिकेटर से बेहतर योद्धा साबित हुए. चैपल ने चैपल ने कहा, "मैं तो भारतीय टीम के युवाओं से ऑस्ट्रेलिया की टीम के युवाओं की तुलना करने से डरता हूं. विल पुकोव्स्की और कैमरून ग्रीन तो अनुभव के मामले में अभी भी प्राइमरी स्कूल के ही लगते हैं.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान ग्रेग चैपल ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर निशाना साधा, उन्होंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मॉडल को 1960 का मॉडल ही करार दिया है. उन्होंने कहा कि बीसीसीआई एक तरफ जहां अपने खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए करोड़ो डॉलर खर्च करता है तो वहीं शेफील्ड शील्ड के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का योगदान 44 मिलियन डॉलर का ही है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को सलाह देते हुए चैपल ने कहा कि, यदि ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट क्रिकेट में आगे रहना है तो क्रिकेट बोर्ड को कुछ नए फैसले लेने होंगे और अपने खिलाड़ियों को तैयार करने लिए इन फासले को कम करना होगा. 

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2021 नॉक आउट राउंड के शेड्यूल का ऐलान, जानिए कब और किस टीम के बीच होंगे मुकाबले


बता दें कि आखिरी टेस्ट में युवा क्रिकेटर शुबमन गिल, ऋषभ पंत, नटराजन और मोहम्मद सिराज ने अपने परफॉर्मेंस के दम पर ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को पटखनी देने में सफलता पाई. ऋषभ पंत ने 89 रन की पारी खेली और वहीं शुबमन ने 91 रन बनाकर भारत की जीत को सुनिश्चित किया. वहीं सिराज ने दूसरी पारी में 5 विकेट लेकर नया किर्तीमान स्थापित किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कुछ दिन पहले विराट ने करियर को लेकर बड़ी बात कही थी.